सेहतमंद गुणों से भरपूर होता है शकरकंद, इन 4 समस्याओं को करता है दूर, ऐसे करें इसका उपयोग

Sweet Potato Benefits: इन दिनों बाजारों में शकरमंद खूब बिकता। खाने में मीठा और स्वादिष्ट स्वीट पोटैटो कई सेहतमंद गुणों से भरपूर होता है। साथ ही कई बीमारियों से निजात भी दिलाता है। फ़ाइबर, मैग्नेशियम, कैल्शियम, विटामिंस, पोटैशियम समेत अन्य कई पोषक तत्वों से यह भरपूर होता है। हालांकि इसका अधिक सेवन हानिकारक भी माना जाता है। लेकिन यदि लिमिट मात्रा में खाया जाए तो यह किसी वरदान से कम नहीं होता है। इसके अनेक फायदे हैं और आप अलग-अलग तरीके से इसका उपयोग भी कर सकते हैं।

इम्यूनिटी को करता है बूस्ट

शकरकंद में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी की मात्रा भी पाई जाती है। जो शरीर की इम्यूनिटी को मजबूत करता है और बुखार, सर्दी, खांसी और अन्य वायरल बीमारियों से बचाता है।

हृदय के लिए फायदेमंद

स्वीट पोटैटो में एंटीऑक्सीडेंट और पोटैशियम की मात्रा प्रचुर मात्रा में होती है। इतना ही नहीं इसमें एंटी-इंफ्मेटरी गुण भी उपलब्ध होते हैं। जो हृदय के लिए फायदेमंद होते है और हार्ट अटैक के रिस्क को कम करते हैं।

वजन घटाता है

आम से दिखने वाले शकरकंद में वजन कम करने के गुण भी होते हैं। यह फ़ाइबर और प्रोटीन से भरपूर होता है। इसका नाश्ते में सेवन करने से मेटाबोलिज़्म सही होता है, जिससे वजन तेजी से घटता है।

हड्डियों के लिए वरदान

शकरकंद में कैल्शियम की मात्रा भरपूर होती है। जो हड्डियों के स्वास्थ्य को अच्छा करता है और इन्हें मजबूत बनाता है।

इन 5 तरीकों से करें स्वीट पोटैटो का उपयोग

आप शकरकंद का उपयोग अलग-अलग तरीके से कर सकते हैं। इससे इनका स्वाद और ज्यादा बढ़ जाता है। आप इन्हें भूनकर और उबालकर कर खा सकते हैं, जो सबसे आसान तरीका है। इसका हलवा बहुत स्वादिष्ट लगता है, घर पर इसे आसानी से बनीय जा सकता है। शकरकंद का पराठा भी बहुत टेस्टी बनता है। अपने घर पर आप इसकी चटनी भी ट्राइ कर सकते हैं।

Disclaimer: इस लेख का उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है, जो मान्यताओं और अतिरिक्त जानकारियों पर आधारित है। एमपी ब्रेकिंग न्यूज इन बातों की पुष्टि नहीं करता। विशेषज्ञों की सलाह जरूर लें।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News