Monsoon Trip: मानसून की खूबसूरती, बजट में फिट, बनाएं दिल्ली से लवासा का 3 दिन का किफायती ट्रिप

Monsoon Trip: दिल्ली से महज 6 घंटे की दूरी पर स्थित लवासा, मानसून के मौसम में घूमने के लिए एक आदर्श जगह है। चारों ओर हरियाली से घिरा यह पहाड़ी शहर, अपनी शांत वातावरण और खूबसूरत दृश्यों के लिए जाना जाता है। मानसून में यहां का मौसम और भी मनमोहक हो जाता है। बारिश से धुली हुई हवा, हरियाली से ढकी पहाड़ियां और झरने, सब मिलकर यहां का माहौल अविस्मरणीय बना देते हैं।

travel

Monsoon Trip: घूमने-फिरने का शौक लगभग हर किसी को होता है। कामकाज की थकान से उबकर जब भी मौका मिलता है लोग अपनी पसंदीदा जगहों पर घूमने-फिरने का आनंद उठाते हैं। और जब मानसून का मौसम आता है तो घूमने का मजा ही कुछ और होता है। बारिश की बूंदों में भीगते हुए, हरियाली से भरे प्राकृतिक नज़ारों का दीदार करते हुए, और ठंडी हवाओं का आनंद लेते हुए घूमना एक अद्भुत अनुभव होता है। मानसून में घूमने के लिए कई खूबसूरत जगहें हैं। पहाड़ी इलाके, समुद्र तट, और जंगल, सभी जगहों का अपना ही एक अलग मजा होता है। कुछ लोग पहाड़ी इलाकों में ट्रेकिंग और कैंपिंग का आनंद लेते हैं, तो कुछ लोग समुद्र तटों पर जाकर सूर्यास्त देखना पसंद करते हैं। वहीं, कुछ लोग जंगलों में घूमकर प्रकृति की खूबसूरती का दीदार करते हैं।

मानसून में घूमने से न सिर्फ मन को सुकून मिलता है, बल्कि यह स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होता है। बारिश की बूंदों में भीगने से त्वचा पर मौजूद गंदगी दूर होती है और मन भी तरोताजा हो जाता है। इसके अलावा, घूमने-फिरने से शरीर में ऊर्जा का संचार होता है और तनाव कम होता है। अगर आप भी घूमने-फिरने का शौक रखते हैं, तो इस मानसून में किसी खूबसूरत जगह पर जाने का प्लान ज़रूर बनाएं। अपनी पसंदीदा जगहों लवासा चुनाव करें, दोस्तों और परिवार के साथ घूमने का आनंद लें, और यादगार पल बनाएं।

पहला दिन:

सुबह दिल्ली से लवासा के लिए रवाना हों। दोपहर में लवासा पहुंचकर होटल में चेक-इन करें। थोड़ा आराम करने के बाद, आप वॉटरफॉल गार्डन जा सकते हैं। यहां आपको कई खूबसूरत झरने और तालाब देखने को मिलेंगे। शाम को आप लेक व्यू पॉइंट जा सकते हैं और यहां से सूर्यास्त का आनंद ले सकते हैं। रात का खाना आप किसी रेस्टोरेंट में खा सकते हैं और लवासा के शांत वातावरण का आनंद ले सकते हैं।

दूसरा दिन:

सुबह जल्दी उठकर आप ट्रेकिंग के लिए जा सकते हैं। लवासा में कई ट्रेकिंग ट्रेल्स हैं, जिनमें से आप अपनी पसंद का ट्रेक चुन सकते हैं। दोपहर में आप एडवेंचर एक्टिविटीज में भाग ले सकते हैं। लवासा में आप ज़िप-लाइनिंग, रॉक क्लाइम्बिंग और रिवर राफ्टिंग जैसी कई एक्टिविटीज कर सकते हैं। शाम को आप बोटिंग का आनंद ले सकते हैं। लवासा के लेक में आप बोटिंग करके यहां के खूबसूरत दृश्यों का आनंद ले सकते हैं। रात का खाना आप किसी रेस्टोरेंट में खा सकते हैं और लवासा की नाइटलाइफ का आनंद ले सकते हैं।

तीसरा दिन:

सुबह आप सई लेक जा सकते हैं। यहां आप बोटिंग और पक्षी देखने का आनंद ले सकते हैं। दोपहर में आप तिब्बती मठ जा सकते हैं। यहां आप तिब्बती संस्कृति और कला के बारे में जान सकते हैं। शाम को आप लवासा के बाजारों में घूमकर यहां से कुछ यादगार सामान खरीद सकते हैं। रात का खाना आप किसी रेस्टोरेंट में खा सकते हैं और फिर दिल्ली के लिए रवाना हो सकते हैं।

लवासा में घूमने के लिए कुछ अन्य जगहें:

  1. एम्पोरियो मॉल
  2. द गार्डन ऑफ फाइव सेंस
  3. यूरोपियन थीम पार्क
  4. वॉटर स्पोर्ट्स
  5. गोल्फ कोर्स

लवासा जाने का सबसे अच्छा समय: लवासा घूमने का सबसे अच्छा समय मानसून का मौसम (जून से सितंबर) होता है। इस मौसम में यहां का मौसम सुहावना होता है और हरियाली देखने लायक होती है।

लवासा कैसे पहुंचें: दिल्ली से लवासा पहुंचने के लिए आप बस, टैक्सी या कार से जा सकते हैं। दिल्ली से लवासा की दूरी लगभग 450 किलोमीटर है और सड़क मार्ग से यहां पहुंचने में लगभग 6 घंटे लगते हैं।

(Disclaimer- यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं के आधार पर बताई गई है। MP Breaking News इसकी पुष्टि नहीं करता।)


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं।मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।