Theft and Robbery: क्या आप जानते हैं चोरी और डकैती के बीच का अंतर? जानिए ऐसे अपराध पर क्या मिलती है सजा

Theft and Robbery: अपने आस पास में आपने कभी न कभी चोरी और डकैती के शब्दों का इस्तेमाल करते हुए किसी न किसी को सुना ही होगा। मगर क्या आप जानते हैं कि इन दोनों मामलों में अंतर क्या होता है और इनके लिए सजा का प्रावधान क्या है? तो चलिए जानते हैं।

Rishabh Namdev
Published on -

Theft and Robbery: चोरी और डकैती जैसे आपराधिक शब्दों को हमने सभी ने कभी न कभी बचपन में सुना है। हालांकि अभी भी दुनिया में ऐसी घटनाएं होती हैं। जिसके चलते यह शब्द आए दिन चर्चा में रहता हैं। इसके साथ ही एक और चीज इन दोनों शब्दों को लेकर अक्सर चर्चा में रहती हैं और वह हैं इन दोनों शब्दों के बीच का अंतर। दरअसल अक्सर लोगों में इस विषय पर चर्चा होती है कि चोरी और डकैती में क्या अंतर होता है? क्या आप जानते हैं कि इन दोनों में क्या अंतर होता है और किस अपराध में अधिक सजा होती है? तो चलिए आज हम आपको इस अंतर के बारे में इस खबर में बताने वाले हैं।

सबसे पहले जानते हैं क्या होती है चोरी?

दरअसल जब किसी व्यक्ति ने बेईमानी, झूठ, या जबरन छीनकर किसी अन्य व्यक्ति की संपत्ति, जैसे रूपया, घड़ी, और अन्य सामान, लिया जाता है, तो उसे चोरी कहा जाता है। जानकारी दे दें कि इसके लिए भारतीय न्‍याय संह‍िता की धारा 378 से 402 में 3 से 7 साल की सजा का प्रावधान है, साथ ही जुर्माने का भी प्रावधान है। भारत के साथ साथ अन्य देशों में भी चोरी करना कानूनी अपराध हैं।

Continue Reading

About Author
Rishabh Namdev

Rishabh Namdev

मैंने श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय इंदौर से जनसंचार एवं पत्रकारिता में स्नातक की पढ़ाई पूरी की है। मैं पत्रकारिता में आने वाले समय में अच्छे प्रदर्शन और कार्य अनुभव की आशा कर रहा हूं। मैंने अपने जीवन में काम करते हुए देश के निचले स्तर को गहराई से जाना है। जिसके चलते मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार बनने की इच्छा रखता हूं।