कामयाबी का है इंतजार तो अपने लिविंग रूम में लगाएं ऐसी तस्वीरें, कॉन्फिडेंस बढ़ाने में भी हैं मददगार

Amit Sengar
Published on -

Vastu Tips For Positive Energy : घर का वास्तु न सिर्फ घर की सुख समृद्धि पर असर डालता है बल्कि घर में रहने वालों का कॉन्फिडेंस भी बढ़ाता है। अक्सर ऐसा होता है कि आप किसी काम के लिए बार बार कोशिश करते हैं लेकिन हर बार मात खा जाते हैं। इसकी वजह हो सकती है कि उस काम को पूरा करने के लिए जरूरी आत्मविश्वास ही आपके भीतर न हो। खुद पर यकीन को बढ़ाने के लिए आपके घर के वास्तु में थोड़े बहुत बदलाव कर, आसानी से फर्क देख सकते हैं। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है बल्कि अपने घर में और खासतौर से लिविंग रूप में लगी तस्वीरों को थोड़ा बदलना है। जानिए किस तरह की तस्वीरें लगाने से आपको खुद में सकारात्मक बदलाव नजर आ सकते हैं।

>> अपने लिविंग रूम में हमेशा ऐसी तस्वीर लगाएं जो प्रोग्रेस को शो करती है। इस तरह की तस्वीर के लिए आप उगते हुए सूरज, दौड़ते हुए घोड़े जैसी तस्वीरें यूज कर सकते हैं। इस तरह की पेंटिंग, तस्वीरें घर में पॉजिटिव एनर्जी देती हैं। लेकिन ये याद रखें कि इन्हें लिविंग रूम में ही लगाना है बेडरूम या स्टडी रूम इस तरह की तस्वीरें न लगाएं।
>> तस्वीरों के अलावा भी बहुत से वास्तु टिप्स हैं जिन्हें फॉलो करने से पॉजिटिव एनर्जी मिलती है।
>> आप जब भी खाना खाएं, कोशिश करें कि आपका फेस पूर्व की तरफ हो। पूर्व दिशा में मुंह कर खाना खाने से आपको पॉजीटिव एनर्जी मिलती है।
>> घर में खिड़कियां अच्छी मात्रा में होना चाहिए। जो खिड़कियां हों उन्हें खुला भी रखना चाहिए। ये खिड़कियां ताजी हवा और रोशनी के साथ पॉजीटिव एनर्जी लेकर आती हैं।
>> योग, ध्यान या पढ़ाई कर रहे हों तो कभी ऐसी दीवारों की तरफ मुंह करके न बैठें जो खाली हैं। ऐसी दीवारें निराशा और निगेटिव एनर्जी बढ़ाती हैं। खिड़की या सजी हुई दीवारें पॉजीटिव एनर्जी देती हैं।
>> रोज सुबह अपनी गैलेरी, गार्डन, आंगन या गेट पर पानी का पत्र रखें। ताकि, पक्षियों की प्यास बुझ सकें
>> सुबह जल्दी उठने की आदत डालें और उगते सूरज को अर्घ्य दें।

*Disclaimer :- यहाँ दी गई जानकारी अलग अलग जगह से जुटाई गई एक सामान्य जानकारी है। MP Breaking news इसकी पुष्टि नहीं करता है।


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News