MP में पटवारियों की हड़ताल का 25 वां दिन, अर्धनग्न होकर किया जल सत्याग्रह

MP News : प्रदेश भर के पटवारियों के द्वारा वेतन विसंगतियों की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन एवं हड़ताल की जा रही है इसी क्रम में आगर जिले के पटवारियों द्वारा तालाब में अर्धनग्न होकर जल सत्याग्रह किया और जमकर नारेबाजी की। गुरुवार को 25 वें दिन भी पटवारियों की हड़ताल जारी रही।

28 अगस्त से हड़ताल जारी

पटवारियों ने कानड़ मार्ग स्थित परसुखेड़ी तालाब में अर्धनग्न होकर जल सत्याग्रह किया और जमकर नारेबाजी की। पटवारी संघ के जिला अध्यक्ष ने जानकरी देते हुए बताया कि जब तक मांगों का निराकरण नही होता हड़ताल जारी रहेगी। बता दें कि गत 28 अगस्त को तहसील में अपने बस्ते जमा कर पटवारी अनिश्चितकालीन कलमबन्द हड़ताल कर कलेक्टर कार्यालय के सामने धरना दे रहे है। जिसकी वजह से राजस्व विभाग का काम प्रभावित हो रहा है। वहीं किसान और आमजन भी अपने राजस्व संबंधी कार्यों के लिए परेशान हो रहे हैं।

ज्ञापन के माध्यम से मुख्यमंत्री को अपना वादा याद दिलाया

हड़ताल पर बैठे पटवारियों का कहना है कि प्रदेश में पटवारी को 1998 में निर्धारित किए गए वेतन अनुसार ही 2023 में भी वहीं वेतन दिया जा रहा है। बीते 25 सालों में वेतनमान में कोई वृद्धि नहीं की गई है। जबकि पटवारी अपने मूल काम के साथ ही शासन की सभी योजनाओं की क्रियान्वयन और अन्य कार्यों को पूरी निष्ठा के साथ निर्वहन कर रहे है। मुख्यमंत्री ने सनावद में 2007 के पटवारी सम्मेलन में भरोसा दिलाया गया था कि मांग उचित है इसको जल्द पूरा किया जाएगा। लेकिन इसके बाद 16 वर्ष हो जाने के बाद भी हमारी मांगे पूरी नहीं हुई है। इसके लिए कई बार ज्ञापन के माध्यम से मुख्यमंत्री को अपना वादा याद दिलाया गया।


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News