Dhar News: युवतियों के साथ परिजनों ने की बर्बरता, लाठी-डंडों से पीटा गया, Video Viral 

दोनों लड़कियां डर गई और शिकायत तक दर्ज नहीं करवाई।

धार, डेस्क रिपोर्ट। अलीराजपुर में युवती के साथ हुई बर्बरता का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि धार जिले के टांडा थाना अंतर्गत ग्राम पीपलवा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसमें दो युवतियों के साथ जमकर बर्बरता की गई। मौजूद लोगों के द्वारा युवतियों को जमकर लाठी-डंडों से पीटा गया और उनके साथ जानवरों जैसा बर्ताव किया गया। बताया जा रहा है कि मारने वाले युवतियों के रिश्ते में चचेरे भाई है।

परिवार के लोगों ने ही युवतियों के साथ बर्बरता की। इतना ही नहीं मौजूद लोगों ने इस घटना का वीडियो मोबाइल में कैद किया परंतु किसी ने उन्हें बचाने की जहमत नहीं उठाई। ऐसा लग रहा है मानो किसी के दिल में कानून का कोई खौफ नहीं बचा। हर कोई कानून को अपने हाथ में लेने पर उतारू हो चुका। वीडियो में युवतियां चिल्लाती रही परंतु इंसानो से हैवान बने लोगों का दिल नहीं पसीजा। लड़कियां उनसे रहम की भीख मांगती रही परंतु उन्हें लाठी डंडों से पिटाई मिली। वीडियो में युवतियों को न केवल युवकों के द्वारा पीटा जा रहा है। बल्कि महिलाओं के द्वारा भी जमकर लाठियां भांजी गई। पत्थरों और लात घुसो से युवतियों को पीटा गया, वीडियो कुछ दिनों पुराना बताया जा रहा है।

Read More: Petrol-Diesal Price: आम जनता की जेब पर भार, फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जाने आज के भाव

बर्बरता की शिकार दोनों युवतियां रिश्ते में चचेरी बहनें और दोनों का रिश्ता अलीराजपुर के जोबट में हुआ है। लड़कियों का आरोप है कि मौजूद लोगों ने स्कूल के पास रोककर उन्हें पूछा कि आप मामा परिवार के दो लड़कों से फोन पर बातचीत क्यों करती हो। जिसके बाद लड़कियों पर जमकर डंडे बरसाए गए। महज फोन पर बात करने की बात को लेकर लोगों ने बवाल खड़ा कर दिया और युवतियों को जमकर पीटा गया। दोनों लड़कियां डर गई और शिकायत तक दर्ज नहीं करवाई।

इधर वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस भी हरकत मे आई। मामले मे टांडा थाना प्रभारी विजय वास्कले ने बताया कि वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने संज्ञान लिया और मौका मुआयना किया युवतियों को थाने लाए। जहां पर पूछताछ करने पर युवतियों ने बताया कि उनके साथ परिजनों के द्वारा ही मारपीट की गई। पुलिस ने शिकायत पर परिवार के ही 7 लोगों पर प्रकरण पंजीबद्ध कर सभी को गिरफ्तार किया।

राज्य महिला आयोग की सदस्य संगीता शर्मा ने इस घटना की निंदा की है। उन्होंने राज्य सरकार से इस पूरे मामले में जवाब तलब करते हुए कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। साथ ही इस मामले में ढिलाई बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई करने की अनुशंसा की है।