चंदेरी में दिखी हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल, ताजियादारों और अखाड़ादारों ने मिलकर किया माता की चुनरी यात्रा का स्वागत

ताजियादारों और अखाड़ेदारों और वक्कवोर्ड कमेटी द्वारा चुनरी यात्रा में सम्मिलित सभी लोगों का पुष्पहार के साथ जलपान कराकर भव्य स्वागत किया।

चंदेरी, अलीम डायर। अशोकनगर जिले (Ashoknagar District) की ऐतिहासिक नगरी चंदेरी (chanderi) में जगत जननी को प्रसन्न करने के लिए और समस्त अशोकनगर जिले की सुख समृद्धि और खुशहाली के उद्देश्य से चुनरी यात्रा निकाली गई। चंदेरी से 35 किलोमीटर दूर ग्राम सरजापुर और शंकरपुर के ग्रामीणों ने 251 मीटर लंबी चुनरी माता जागेश्वरी को भेंट की। चुनरी यात्रा के संयोजक लोकेंद्र सिंह परमार ने बताया कि दोपहर 12 बजे चुनरी यात्रा सरजापुर ढाकोनी से प्रारंभ की गई। चुनरी यात्रा में ढोल और डीजे पर माता के भजनों पर महिला, बच्चे और पुरुष मां की भक्ति में लीन होकर 35 किलोमीटर की पैदल यात्रा कर कब माता के जागेश्वरी के दरबार में पहुंच गए। वहां पूरे विधि विधान के साथ माता जागेश्वरी की पूजा अर्चना के बाद चुनरी अर्पण की गई।

यह भी पढ़ें… आशीर्वाद यात्रा का पुष्प वर्षा कर भाजपा कार्यकर्ताओं ने की अगवानी

ताजियादारों और अखाड़ादारों द्वारा किया गया चुनरी यात्रा का स्वागत
जैसे ही चुनरी यात्रा का प्रवेश ऐतिहासिक नगरी चंदेरी में हुआ तो पूरे शहर का वातावरण भक्तिमय हो गया। चुनरी यात्रा जैसे ही शहर के प्रमुख दिल्ली दरवाजे चौराहे पर पहुंची तो चौराहे पर हिंदू मुस्लिम एकता की मिसाल सौहार्द पूर्ण वातावरण देखने को भी मिला। जिसका प्रमुख कारण मुस्लिम समाज के ताजियादारों और अखाड़ेदारों और वक्कवोर्ड कमेटी द्वारा चुनरी यात्रा में सम्मिलित सभी लोगों का पुष्पहार के साथ जलपान कराकर भव्य स्वागत किया। सभी भक्तों द्वारा स्वागत समारोह के लिए सभी लोगों का धन्यवाद किया। इस अवसर पर इदरीश खां पठान सदर मुस्लिम वेलफेयर सोसायटी, शरीफ बैग मिर्जा अध्यक्ष वक्फ बोर्ड,रसीद दलाल,नथ्थू मेहतर,ताजियेदार शानू मिर्जा,अखाड़ेदारहकीम खलीफा,सगीर खान,समीर दरवान,रासिद दरवान उपस्थित रहे।