बालाघाट, सुनील कोरे। बालाघाट (Balaghat) में पुलिस ने नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ कमरतोड़ कार्रवाई करते हुए नक्सलियों को विस्फोटक और हथियार सप्लाई किये जाने वाले गिरोह के 8 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। जिनके पास से पुलिस ने विस्फोटक जिलेटिन राड, पिस्टल, एके 47, कोडेक्स, दो वाहन, एलईडी टॉर्च, सामान्य टॉर्च सहित अन्य सामग्रियों की बरामदगी की है। पुलिस की मानें तो आरोपियों द्वारा इससे पहले भी मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) सहित महाराष्ट्र (Maharashtra) और छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में भी नक्सलियों को विस्फोटक और हथियार सप्लाई किया है। पुलिस अब इनके नेटवर्क को तलाशने में जुटी है। आरोपियो के पकड़ाये जाने के बाद पुलिस को कुछ लोगो के नाम भी मिले है, जिनकी पुलिस तलाश कर रही है, संभवतः आगामी समय में इस मामले से जुड़े और भी लोग पुलिस हिरासत में लिये जा सकते है।

यह भी पढ़ें…Electricity Bill: MP के बिजली उपभोक्ताओं के लिए खुशखबरी, इन जिलों को मिलेगा लाभ

प्रेसवार्ता में पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी ने बताया कि विश्वसनीय सूत्रों से गोपनीय सूचना मिली थी कि बालाघाट जिले के किरनापुर थाना क्षेत्र में कुछ संदिग्ध व्यक्ति दो-चार पहिया वाहनों से नक्सलियों को हथियार तथा विस्फोटक सामग्री एवं अन्य उपयोगी सामग्री पहुंचाने के उद्देश्य से आये हुए है। जिसके बाद बालाघाट पुलिस द्वारा तत्काल कार्रवाई करते हुए पुलिस टीम की मदद से वाहनों की घेराबंदी कर थाना क्षेत्र अंतर्गत जंगलो में वाहनों को रोककर उसकी तलाशी ली गई तो उसमें अवैध हथियार, विस्फोटक सामग्री एवं नक्सलियों द्वारा उपयोग की जाने वाली अन्य सामग्री बरामद की गई है। जिसका उपयोग नक्सली, नक्सली उन्मूलन में लगे सुरक्षाबलों पर जानलेवा हमला किये जाने की जानकारी मिली है। दोनो ही वाहनों में सवार 8 लोगों को पकड़ा गया है। जिनसे पूछताछ की जा रही है, मामले में आगामी समय में और भी महत्वपूर्ण खुलासे होने की संभावना है।

8 आरोपियों के पास से पुलिस ने बरामद किये विस्फोटक और हथियार
नक्सलियो को पहुंचाने लाये गये विस्फोटक और हथियार सहित अन्य सामग्री के साथ पुलिस ने अपराध की धारा 120B IPC, 21,23,13(1)(ए)(बी)यूएपीए अधिनियम, 25 आर्म्स एक्ट और 4/5 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में महाराष्ट्र मुंबई के ठाणे जिला अंतर्गत सुकरी पार्क सोसायटी विजयपथ मीरारोड़ ईस्ट निवासी संजय चित्रोहा, ठाणे जिला अंतर्गत 001 बीएमआई निवासी रोहित शिवा भाई बुटानी, महाराष्ट्र गोंदिया जिला अंतर्गत देवरी के परसोड़ी निवासी घनश्याम आचले, विजय कोरेटी, राजस्थान कोटा जिला अंतर्गत रामगंज मंडी के सुनेश निवासी शाकिर खान शेरजंग खान, झालवाड़ जिला अंतर्गत पुरानी जेल निवासी तौसीफ उर्फ राजा चौधरी, सालरापाटन निवासी जितेन्द्र कुमार अग्रवाल, राजस्थान कोटा जिला अंतर्गत वाजिद चौधरी कयुम को गिरफ्तार किया है। जिनके पास से पुलिस ने 32 इंच पिस्टल 3 नग, मैगजीन 3 नग, एके 47 मैगजीन अनफर्निश्ड एक नग, जिलेटीन रॉड 8 नग, कोंडेक्स लाल रंग की करीब 20 फिट, दो इनोवा एवं स्कोंडा कार, एनड्राईड मोबाईल, एलईडी टॉर्च 9 नग, सामान्य टॉर्च 2 नग, टेंट 6 नग सहित छाता, एयर पंप, एमपी 3 प्लेयर और अन्य सामग्री बरामद की है।

 

Balaghat : नक्सलियों को विस्फोटक और हथियार सप्लाई करने वाले गिरोह के 8 सदस्य गिरफ्तार, हो सकते है बड़े खुलासेBalaghat : नक्सलियों को विस्फोटक और हथियार सप्लाई करने वाले गिरोह के 8 सदस्य गिरफ्तार, हो सकते है बड़े खुलासे

तार से तार जोड़ने में लगी पुलिस
नक्सलियों को विस्फोटक, हथियार सहित सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने वाली सामग्री को सप्लाई करने वाले गिरोह से प्रारंभिक पूछताछ में कई बातो का पता चला है। मसलन साल में 5-6 बार आरोपियों द्वारा जिले के तांडा, मलाजखंड, विस्तार दलम सहित अन्य दलम को इन्होंने विस्फोटक और हथियार सप्लाई करे थे। जिनके बैंक खाते में इसके 25 से 30 लाख रूपये का लेनदेन का भी पता चला है। पुलिस की मानें तो आरोपी नक्सलियो की बैठको में शामिल होकर नक्सली संगठन के कमांडर सहित बड़े लोगों से उनकी आवश्यकतानुसार विस्फोटक और हथियारों की जरूरतों की सूची लेकर उन्हे सप्लाई करने का काम करते थे। पुलिस को इनके कुछ स्थानीय सूत्रों का भी पता चला है, जो नक्सलियों से मिलने और उन तक सामान पहुंचाने में इनकी मदद करते थे। पुलिस मामले में इन सभी तारों को जोड़कर इनके पूरे नेटवर्क की तलाश में जुट गई है। हालांकि यह पूरी तरह कमर्शियल थे। मतलब इनकी नक्सली विचारधारा से कोई मेल हो, ऐसा अब तक सामने नहीं आया है। यह केवल पैसे के लिए नक्सलियों को विस्फोटक, हथियार और जरूरी सामग्री मुहैया करवाने का काम करते थे। पुलिस अब यह पता करने में जुटी है कि बड़ा विस्फोटक जिलेटिन की रॉड इनके पास कैसे पहुंची? पुलिस की मानें तो नक्सलियों तक हथियार, एक्सप्लोसिव के अलावा हाईटेक इक्विपमेंट भी पहुंचाने का काम आरोपी करते थे। इनके सप्लाई सामग्री में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही थी। पुलिस अब आरोपियों से मिल रही जानकारी और विवेचना के बाद इस पूरे मामले को क्रेक करने में जुटी है।

बालाघाट केइन जगहों पर नक्सली संगठन को सप्लाई किये हथियार
पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी की मानें तो नक्सलियों को विस्फोटक और हथियार सहित सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने वाली सामग्री सप्लाई करने के मामले में पकड़ाये गये आरोपियों ने बालाघाट सहित छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव, कवर्धा और महाराष्ट्र के गोंदिया और गढ़चिरोली क्षेत्र में सक्रिय नक्सली संगठनों को भी हथियार और एक्सप्लोसिव सप्लाई किया है। जिनसे पूछताछ में और भी खुलासे हो सकते है।

यह भी पढ़ें… खबर का असर : नशे में ड्यूटी पर पहुंचे थे पुलिसकर्मी, अब हुए लाइन अटैच !

पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी का कहना है कि मध्यप्रदेश पुलिस को लगातार ऐसी सूचनायें मिल रही थी कि नक्सलियों को विस्फोटक और हथियार सप्लाई किया जाता है। जिसकी काफी समय से तैयारी चल रही थी और विश्वसनीय सूत्रों से मिली गोपनीय जानकारी के आधार पर किरनापुर थाना अंतर्गत दो संदिग्ध वाहनों को रोका गया। जिसकी तलाशी में नक्सलियों को भेजी जाने वाली विस्फोटक सामग्री को पुलिस ने बरामद किया है। जिससे नक्सली सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने की मंशा से उपयोग कर सकते थे। इस मामले में पुलिस ने 8 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिनके पास से नक्सलियों को पहुंचाने लाये गये विस्फोटक, हथियार और सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने में उपयोग की जाने वाली सामग्री बरामद की गई हैं। जिनसे प्रारंभिक पूछताछ में कुछ और लोगों की जानकारी मिली है। जिन्हें भी पुलिस द्वारा जल्द ही पकड़ा जायेगा। आगामी समय में मामले में और खुलासे हो सकते है।