भगवान शांतिनाथ ने किया चोर का हद्रय परिवर्तन, क्षमा मांगकर जैन मंदिर से चोरी छत्र और भामंडल वापस लौटाये

बालाघाट, सुनील कोरे। दीपावली की रात लामता के दिगंबर जैन मंदिर भगवान महावीर मंदिर से भामंडल और छत्र की चोरी की घटना के 4 दिनो बाद सकुशल वापस मिल गये है। एक सरकारी नल की जगह पर एक थैले में मिला। जिसे संभवतः चोर वहां रख गया था। जिसके साथ माफीनामा भी मिला है।

यह भी पढ़ें… वन मंत्री विजय शाह ने बताया कैसे बचेगा जंगल, राहुल गांधी पर कसा तंज

जिसमें अज्ञात आरोपी द्वारा लिखे गये माफीनामा में स्वयं को लामतावासी बताकर जैन मंदिर में चोरी करना स्वीकार करते हुए लिखा कि ‘‘जब से मैंने मंदिर के समान की चोरी की है, तब से बहुत नुकसान एवं परेशानियां उठानी पड़ रही है। जिसके लिए उसने भगवान आदिनाथ और जैन समाज से माफी के साथ ही सामान जैन समाज तक पहुंचा देने की बात लिखी है। फिलहाल जैन मंदिर से भगवान आदिनाथ के चोरी किये गये छत्र और भामंडल के सुरक्षित वापस मिल जाने के बाद से जैन समाज में खुशी का माहौल है और सच में उनके लिए आज दीपावली जैसा त्यौहार है। जैन समाज के हर बंधुओं के चेहरे पर मुस्कान दिखाई दे रही है। फिलहाल जैन बंधु के निवास स्थान के पास शासकीय नल के गढ्ढे में मिले आभूषण को सुरक्षित रूप से पुलिस ने बरामद कर लिया है।

यह भी पढ़ें…. भोपाल : कॉकरोच ने कराया बापू की कुटिया का लाइसेंस निलंबित

गौरतलब हो कि विगत 24 दिसंबर दीपावली की रात्रि अज्ञात चोर ने जैन मंदिर से चांदी के 9 छत्र, 01 चांदी और 3 पीतल के भामडंल चुरा ले गये थे। जिसकी रिपोर्ट पुलिस थाना लामटा में जैन समाज द्वारा कराई गई थी। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक समीर सौरभ, एसडीओपी सतीश साहू के निर्देश पर थाना प्रभारी पी.एस.डामोर, ए.एस.आई.वीरेन्द्र सिंह धाकड़, श्रीमती वंदना नाग ए.एस.आई., विनोद विश्वकर्मा थाना स्टाफ मामले की विवेचना में जुटा था। यह पुलिस का दबाव कहे या फिर भगवान आदिनाथ के छत्र और भामंडल चोरी से हुए चोर का हद्रय परिवर्तन, फिलहाल घटना के बाद नाराज जैन समाज में खुशी का माहौल है। सफेद रंग एवं लाल बार्डर के थैले में वार्ड नं 09 प्रवीण जैन के मकान के सामने ग्राम पंचायत के नल के गड्ढे में रखे मिले मंदिर के छत्र और भामंडल के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली है। चोरी गये समान के मिल जाने से सकल जैन समाज एवं ग्रामवासियके चेहरे खुशी देखी गई और बाजे गाजे के साथ जैन समाज, पुलिस के साथ समान लेकर थाने पहुंचे। जैन धर्मावलंबी अशोक जैन ने बताया कि सुबह पूजन के दौरान जैसे ही छत्र और भामंडल के मिलने की खबर मिली। मन प्रसन्न हो गया। यह भगवान शांतिनाथ की कृपा है। पुलिस ने सामान की जब्ती बनाई है और आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस कार्यवाही कर रही है। दिलीप कुमार जैन ने बताया कि चोरी गये सामान के सही सलामत मिल जाने से सकल जैन समाज में खुशी का माहौल है। आज हमारी सही दीपावली है। यह सब भगवान शांतिनाथ की कृपा है। थाना प्रभारी पी.एस. डामोर ने बताया कि जैन मंदिर से दीपावली की रात चोरी किये गये सभी सामान को बरामद कर लिया गया है। जिसे कोई शासकीय नल के गढ्ढे में छोड़ गया था। मामले में विवेचना जारी है, चोर को भी गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

 भगवान शांतिनाथ ने किया चोर का हद्रय परिवर्तन, क्षमा मांगकर जैन मंदिर से चोरी छत्र और भामंडल वापस लौटाये