रजेगांव बॉर्डर पर हमदर्द बनकर पुलिस अधिकारियों ने जाना मजदूरों का दर्द

बालाघाट। सुनील कोरे। कोविड-19 से निपटने किये गये लॉक डाउन में वर्दी में रहकर पुलिसकर्मियों ने न केवल लॉक डाउन का पालन करवाने में अपना पूरा सामर्थ्य लगा दिया है वहीं कई ऐसे वाक्ये भी सामने आये, जब वर्दीधारी, हमदर्द बनकर बाहर से आ रहे मजदूरों की सेवा मंे जुटे दिखाई दिये। लॉक डाउन का पालन के दौरान जहां लोगों ने पुलिस का रौब देखा तो वहीं मजबूर मजदूरों के लिए पुलिस की मानवता भी लोगों ने देखी।

बालाघाट जिले से पलायन कर प्रदेश के बाहर गये गरीब मजदूर, लॉक डाउन के बाद काम धंधे बंद होने से आ अब लौट चले की तर्ज पर अपने घरों की ओर लौट रहे है। रोजाना सैकड़ो मजदूर, बाहर प्रदेशों से विभिन्न माध्यमो से बालाघाट आ रहे है। कोई पैदल, कोई वाहन तो कोई अपने साधन से घर आ रहा है। मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र की सीमा से लगे अंतर्राज्यीय नाके रजेगांव से प्रतिदिन मजदूरों के आने का सिलसिला जारी है। इसी कड़ी में आज 14 मई को भी बड़ी संख्या में बाहर कमाने-खाने गये मजदूर हैदराबाद, चेन्नई, वाशिम, बैंगलोर, मुंबई, पुणे, हैदराबाद और नागपुर से पहुंचे। जिन्हें पुलिस अधिकारियों द्वारा सामुदायिक पुलिसिंग के तहत जरूरत और स्वास्थ्य कीट प्रदान की गई।

अंतर्राज्यीय रजेगांव नाका में आज 14 मई को पुलिस महानिरीक्षक के पी वेंकटेश्वर राव, उप पुलिस महानिरीक्षक अनुराग शर्मा, पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस लांजी नितेश भार्गव, एस।डी।एम। सुश्री निकिता मंडलोई, थाना प्रभारी किरनापुर और अन्य पुलिस अधिकारियों की उपस्थिति में सामुदायिक पुलिसिंग के तहत दक्षिणी राज्यों से लगातार और बड़ी संख्या में आ रहे मजदूरों के लिए अत्यावश्यक सामग्री वितरण और कोरोना बीमारी से बचाव को लेकर मजदूरों को जागरूकता किया गया।
सामुदायिक पुलिसिंग के तहत रजेगांव नाका में आयोजित कार्यक्रम में अनुविभागीय अधिकारी पुलिस लांजी नितेश भार्गव द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया कि पुलिस द्वारा 25 मार्च से लगातार 24 घंटे रजेगांव बॉर्डर पर ड्यूटी के साथ ही आ रहे मजदूरों को होम क्वारेंटाईन का पालन करने के निर्देश देकर उन्हें उनके गृहग्राम तक भिजवाने का कार्य किया जा रहा है। इस दौरान पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी ने आने वाले मजदूरों की समस्याओं के बारे में जानकारी प्राप्त की और तदनुसार सुधार के लिए निर्देशित किया।

सामुदायिक पुलिसिंग के तहत अंतर्राज्यीय नाका रजेगांव में पुलिस अधिकारियों के हस्ते बाहर से बालाघाट पहुंचे 200 से अधिक मजदूरों को गमछा, मास्क, बिस्किट, एनर्जी ड्रिंक, सेनेटाइजर, एंटीसेप्टिक क्रीम, पेन रिलीफ क्रीम, साबुन, एक जोड़ी सेंडिल तथा बच्चों को चॉकलेट, स्कूल बैग, कॉपी, पेंसिल, पेन, स्टेशनरी किट प्रदाय की गई। कार्यक्रम में उपस्थित मजदूरों ने बालाघाट में पुलिस द्वारा किये जा रहे सहयोग के प्रति प्रसन्नता व्यक्त की और पुलिस के कार्यों की सराहना की। आयोजित कार्यक्रम में पुलिस के नक्सल सेल, तहसीलदार किरनापुर, जनपद सी।ई।ओ। सहित पुलिसकर्मी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here