बागली/देवास, सोमेश उपाध्याय। मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री व प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेता दीपक जोशी  (Deepak Joshi)  इन दिनों प्रदेश के दिग्गज नेताओं से मुलाक़ात कर रहे हैं । हालाँकि जोशी अपनी मुलाकात को सामान्य बता रहे हैं, परन्तु खण्डवा लोकसभा में उपचुनाव के पहले किए जा रहे मेल-मिलापों ने क्षेत्र की राजनीतिक सरगर्मियां को हवा देदी है।

पूर्व मंत्री दीपक जोशी  (Deepak Joshi)  की भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya), विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम (Girish Goutam), लघु एवं सूक्ष्म उद्योग मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा (Omprakash Saklecha) से मुलाकात ने राजनीतिक चर्चाओं को हवा देदी। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan), भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालसिंह आर्य (Lal Singh Arya), केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते (Faggan Singh Kulaste) भी हाल ही में जोशी के भोपाल स्थित निवास पहुचे थे, हालांकि इन नेताओं का पहुँचने का कारण पिछले दिनों जोशी की धर्मपत्नी के निधन उपरांत संवेदना व्यक्त करना था। लेकिन सियासी गलयारों में मेल मिलापों को खण्डवा उपचुनाव से जोड़ कर देखा जा रहा है।

उपचुनाव से पहले पूर्व मंत्री की दिग्गजों से मुलाकात, सियासी पारा गर्म उपचुनाव से पहले पूर्व मंत्री की दिग्गजों से मुलाकात, सियासी पारा गर्म

ये भी पढ़ें – जंगल बचाने की मुहिम शुरू, आदिवासियों को चौपाल लगा कर बता रहे वनों की उपयोगिता

उधर खण्डवा लोकसभा से जोशी का नाम जुड़ना इसलिए भी स्वाभाविक हो गया क्योंकि बागली विधानसभा भी खण्डवा लोकसभा अर्न्तगत आने वाली सीट है और जोशी की राजनीतिक परिदृश्य से बागली से निकटता है। वे खण्डवा लोकसभा के दिवगंत सांसद नन्दू भैया नंदकुमार सिंह चौहान के देवास में जिला प्रतिनिधि भी रह चुके हैं । हालांकि जोशी ने अभी तक लोकसभा में उम्मीदवारी को लेकर किसी प्रकार का कोई संकेत तो नहीं दिया परन्तु उनकी सक्रियता व बड़े नेताओं से मुलाक़ात ने ऐसी चर्चाओं को जन्म दे दिया।

 ये भी पढ़ें – Indore News : एक्शन मोड में ऊर्जा मंत्री, इसलिए हाथ में उठाई कुल्हाड़ी

वही जोशी के पुत्र भी क्षेत्र में लगातार सक्रिय हैं उन्होंने भी अपनी दिवगंत माता की स्मृति में सम्पूर्ण विधानसभा क्षेत्र के फ्रंट लाइन कोरोना वारियर्स को सुरक्षा किट का वितरण किया था। बरहाल खण्डवा सीट से उम्मीदवार की यदि बात की जाए तो अभी प्रमुख रूप से दिवगंत सांसद स्व.नन्दकुमार सिंह चौहान के पुत्र कु.हर्षवर्धन सिंह चौहान, पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस, पूर्व सांसद कृष्णमुरारी मोघे, पूर्व महापौर भावना शाह का नाम प्रमुखता से लिया जा रहा है।

ये भी पढ़ें – MP News: मंत्री जी यह तो बहुत शर्मनाक है, शिक्षा मंत्री का Video Viral