बैतूल में ट्रिपल मर्डर को अंजाम देने वाले कलयुगी बेटे को पुलिस ने 6 घंटे में किया गिरफ्तार

बैतूल में कलयुगी बेटा जिसने पिता और पड़ोसी दो महिलाओं की हत्या कर दी थी जिसे पुलिस ने छः घण्टे में गिरफ्तार कर लिया है। काम धंधा न करने की बात पर पिता से हुए विवाद में ट्रिपल मर्डर को अंजाम दे दिया था।

बैतूल, वाजिद खान। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के बैतूल (Betul) में मंगलवार हुए सनसनीखेज तिहरे हत्याकाण्ड (Triple murder) का खुलासा बैतूल पुलिस ने मजह 6 घंटे में कर लिया। पुलिस ने लगातार सर्चिंग के बाद आरोपी बेटे को ताप्ती घाट से घेरा बंदी कर गिरफ्तार किया और आरोपी की निशानदेही पर घटना को अंजाम देने में लिया गया सब्बल बरामद किया गया।

यह भी पढ़ें….बैतूल में ट्रिपल मर्डर से सनसनी, युवक ने की पिता और पड़ोसी महिलाओं की हत्या

घटना 20 अप्रैल मंगलवार दोपहर की है जहां बैतूल के जयप्रकाश वार्ड में एक सिरफिरे युवक द्वारा अपने पिता और मोहल्ले की दो महिलाओं की सब्बल मारकर निर्मम हत्या कर दी गई थी। जिसकी सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुँची और घटना स्थल का मुआयना कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक स्वयं घटना स्थल पर 15 मिनट के भीतर पहुंची, घटना स्थल के निरीक्षण में पाया गया कि आरोपी संतूलाल पिता फत्तू पारधे उम्र 44 साल निवासी जयप्रकाश वार्ड के द्वारा अपने पड़ोसी रितिका और गुन्ताबाई निवासी जयप्रकाश वार्ड से विवाद के चलते एवं आरोपी के स्वयं के पिता द्वारा पड़ोसी रितिका एवं गुन्ताबाई के पक्ष लेने के कारण गुस्से में इस घटना को अंजाम दिया गया।

यह भी पढ़ें….आधीरात को जिला अस्पताल पहुंचे सीएमएचओ, अव्यवस्थाओं के चलते डॉक्टर को जमकर लगाई फटकार

आरोपी संतूलाल ने पहले घर की लोहे की सबल्ल से अपने पिता के सिर में वार करके हत्या कर दी एवं पड़ोसी रितिका की भी मौके पर हत्या कर दी और अन्य मृतिका गुन्ता बाई ने भी घटना स्थल से अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया। घटना कारित करने के तुरन्त पश्चात आरोपी बनियान पहने ही माचना नदी व हाईवे की तरफ फरार हो गया था । इस घटना के बाद पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में आरोपी संतूलाल की गिरफ्तारी हेतु चार पुलिस टीम बनाई गई थी, जिन्होनें आरोपी की भागने की दिशा की तरफ सर्चिंग करना शुरु किया वही पुलिस को मुखबिरी व एक विकलांग व्यक्ति द्वारा दी गई सुचना एवं संघन सर्चिग से जानकारी प्राप्त हुई कि एक व्यक्ति जो बनियान में है एक मोटर सायकल से लिफ्ट माँगकर खेड़ी की तरफ गया है, उक्त सूचना के आधार पर मार्ग में स्थित ढाबों में लगे सीसीटीवी कैमरे पर मोटर सायकल को चिन्हित किया गया उसके आधार पर शहर में लगे व बाहरी क्षेत्रों में लगे शासकीय सीसीटीवी कैमरों की पतारसी कर उक्त मोटर सायकल नबंर एवं वाहन मालिक का पता किया गया, जिसके बाद उक्त गाड़ी क मालिक के द्वारा बताया गया कि आरोपी लिफ्ट लेकर खेड़ी के पास झल्लार वाले रास्ते में उतर गया है, जिसके बाद उस दिशा में पुलिस की लगातार सर्चिंग कर छः घण्टे के भीतर ताप्ती घाट के पास से आरोपी की घेरा बंदी कर गिरफ्तार किया गया तथा उसकी निशानदेही पर उसके द्वारा छुपाए गए लोहे की सबल्ल को बरामद किया गया एवं पुलिस अधीक्षक के द्वारा विकलांग व्यक्ति को पुरुषकृत्त भी किया गया ।

वही आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद पूछताछ के दौरान ज्ञात हुआ की आरोपी संतूलाल पारधे अपने पड़ोस में रहने वाले राजेश झरबड़े से काम धन्धे को लेकर कुछ दिन पूर्व विवाद हुआ था तथा संतूलाल कोई काम धंधा नही करता था घर में रहता था, इस कारण उसके पिता फत्तू पारधे भी उसे काम धंधे के लिए कहते थे पड़ोसी राजेश से विवाद के दौरान भी पिता ने राजेश व उसके परिवार का पक्ष लिया था, इसी बात को लेकर संतूलाल अपना आपा खो बैठा ओर 20 अप्रैल को दोपहर करीबन एक बजे आरोपी के पिता संतूलाल ने जब कोई न कोई काम धंधा करने के लिए कहा इसी बात पर आरोपी अपने पिता से विवाद कर बैठा और घर की लोहे की सबल्ल से सिर पर मार कर हत्या कर दी व पड़ोस में राजेश के घर जाकर राजेश के न मिलने पर सामने आई उसकी पत्नी रितिका एवं राजेश की माँ गुन्ताबाई की भी हत्या कर दी। वही पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।