कांग्रेस ने निकाली रैली, खराब फसल लेकर किसानों के साथ पहुंचे कलेक्ट्रेट, उठाई ये मांग

बैतूल,वाजिद खान। जिले में अतिवृष्टि और पीला मोजेक के कारण फसल खराब होने को लेकर कांग्रेस ने बुधवार को बड़ा प्रदर्शन किया । बैतूल के गांधी चौक से कांग्रेस ने रैली शुरू की। इस रैली में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ साथ बड़ी संख्या में किसान भी शामिल हुए । किसान हाथों में खराब फसल का नमूना लिए हुए थे, शहर के विभिन्न मार्गों से नारेबाजी करते हुए कांग्रेस की रैली कलेक्ट्रेट पहुंची। बड़ी संख्या में किसान और कांग्रेसी कार्यकर्ता  को कलेक्ट्रेट के गेट पर रोक लिया गया। इस दौरान भी सरकार के खिलाफ गुस्सा निकालते हुए नारेबाजी की गई ।

कांग्रेस ने निकाली रैली, खराब फसल लेकर किसानों के साथ पहुंचे कलेक्ट्रेट, उठाई ये मांग

वहीं कांग्रेस का प्रतिनिधि मंडल अंदर गया और कलेक्टर राकेश सिंह को ज्ञापन सौंपकर अपनी मांगे रखी । कांग्रेस ने खराब फसल का मुआवजा चालीस हजार रुपये प्रति हेक्टेयर देने की मांग की । इसके साथ ही कांग्रेस सरकार के दौरान किसानों का कर्ज माफ किया गया था उसमें दो लाख कर्ज वाले किसान बाकी रह गए उनका कर्ज भी माफ किया जाए ये मांग भी रखी गई। कांग्रेस सरकार में बिजली बिलों में जो राहत दी जा रही थी वह आमजनता को राहत दी जाए । इसके साथ ही रबी सीजन आने की बात करते हुए कांग्रेस ने यूरिया खाद का पर्याप्त स्टॉक किये जाने की मांग की ।

कांग्रेस ने निकाली रैली, खराब फसल लेकर किसानों के साथ पहुंचे कलेक्ट्रेट, उठाई ये मांग

बैतूल कांग्रेस विधायक निलय डागा ने बताया कि किसानों की माली हालत खराब है। फसल खराब हो गई है। हमारी सरकार ने जो कर्ज माफ किया था उसमें दो लाख तक के कर्ज वाले किसान बचे हैं। उन किसानों का कर्जा माफ किया जाए । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व में कांग्रेस की सरकार के दौरान मांग की थी कि किसानों को चालीस हजार प्रति हेक्टेयर मुआवजा दिया जाए, अब वो खुद मुख्यमंत्री हैं तो किसानों को चालीस हजार रुपये प्रति हेक्टेयर मुआवजा दिया जाए। रबी का सीजन आने वाला है उसके लिए यूरिया का इंतजाम किया जाए।

कांग्रेस ने निकाली रैली, खराब फसल लेकर किसानों के साथ पहुंचे कलेक्ट्रेट, उठाई ये मांग

कांग्रेस के प्रदर्शन पर कलेक्टर राकेश सिंह ने कहा कि सोयाबीन सहित कई फसलें खराब हुई है, जिनका प्रशासन सर्वे करा रहा है, कुछ जगह हो रहा है और कुछ जगह हो गया है। कांग्रेस ने कुछ नीतिगत मांगे और कुछ स्थानीय मुद्दों पर ज्ञापन सौंपा है, उस पर चर्चा की गई है।