सरकारी स्कूल में शराब कारखाना मिलने के बाद कलेक्टर का एक्शन, प्राचार्य सहित 3 शिक्षकों को किया सस्पेंड

गांव के स्कूल के एक कमरे में और उसके आसपास शराब कारखाना पुलिस के द्वारा पकड़ा गया है। इस कार्यवाही में अवैध नकली शराब निर्माण सामग्री और इस कारोबार से जुड़ी तमाम चीजें जप्त की गई।

भिण्ड, गणेश भारद्वाज| Bhind News शासकीय माध्यमिक स्कूल गड़ी- हरीक्षा में अवैध नकली शराब कारखाना मिलने के बाद जिला प्रशासन हरकत में आ गया है। प्राथमिक माध्यमिक स्कूल में शराब कारखाना मिलने के बाद जिले के कलेक्टर डॉ वीरेंद्र सिंह रावत (Collector Dr. Virendra Singh Rawat) की बड़ी कार्रवाई सामने आई है। स्कूल के प्राचार्य सत्येंद्र सिंह तोमर के बाद दो अन्य शिक्षक श्रीकांत त्रिपाठी और अभिलाख सिंह तोमर को भी कलेक्टर श्री रावत के निर्देश पर निलंबित (Suspend) कर दिया गया है, तीनों शिक्षकों की उदासीनता, कर्तव्य में लापरवाही और अवैध शराब निर्माण कार्य में संलिप्तता के बिंदुओं पर जाँच कराए जाने की भी बात अधिकारियों ने कही है।

इसके बाद गड़ी गांव के कोटवार पटवारी और अन्य जिम्मेदार कर्मचारी और अधिकारियों पर भी हो ने की प्रबल संभावना दिखाई दे रही है। ज्ञात हो कि बीते रोज जिले में पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह के द्वारा चलाए जा रहे अवैध शराब विरोधी अभियान के अंतर्गत गोरमी थाना प्रभारी मनोज सिंह राजपूत ने दल बल के साथ घड़ी गांव में अवैध शराब कारखाना होने की निशानदेही पर छापामार कार्रवाई की थी इस कार्रवाई में गांव के स्कूल के एक कमरे में और उसके आसपास शराब कारखाना पुलिस के द्वारा पकड़ा गया है। इस कार्यवाही में अवैध नकली शराब निर्माण सामग्री और इस कारोबार से जुड़ी तमाम चीजें जप्त की गई।

ज्ञात हो कि कोरोना के समय जिले भर के शासकीय स्कूल बंद रहे इस बीच में तमाम स्कूलों में असामाजिक तत्वों ने अपना डेरा डाल दिया अब इस बात की आवश्यकता है कि पूरे जिले भर के स्कूलों के भवनों की भौतिक जांच हो जिससे स्कूल असामाजिक तत्व और दबंगों के कब्जे से मुक्त हो सकें जिले के कई स्कूलों में पशु बांधे जाते हैं तो कई स्कूलों में लोगों के द्वारा कब्जा कर लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here