पूर्व विधायक हेमंत कटारे की बढ़ी मुश्किलें, गैर जमानती वारंट जारी

Increased-difficulties-of-former-legislator-Hemant-Katare--non-bailable-warrant-issued

भिंड| भिंड| कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक हेमंत कटारे की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ गई है| विधायक रहते कटारे कई मामलों में सुर्ख़ियों में रहे हैं, अब उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है। विशेष न्यायाधीश योगेश कुमार गुप्ता ने एससी-एसटी एक्ट के मामले में कटारे को आरोपी बना दिया है।  न्यायालय ने वारंट जारी कर एसपी को निर्देशित किया है कि वारंट की तामील किसी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से कराई जाए।  

 कटारे की 14 मार्च को पेशी लगाई गई है। मामला 16 अगस्त 2017 का है, कल्याण जाटव के साथ जमसारा रोड पिथनपुरा के पास मारपीट की गई। इस मामले में पुलिस ने आरोपित विजय कुमार मिश्रा, अजल कुमार, पंकज मिश्रा, विशाल मिश्रा और आशीष मिश्रा पर केस दर्ज किया था। मामले में जांच के बाद अटेर के तत्कालीन एसडीओपी इंद्रवीर सिंह भदौरिया ने सह आरोपी के रूप में हेमंत कटारे का नाम शामिल किया था। एसडीओपी भदौरिया ने कोर्ट में कटारे को फरार बताते हुए 20 दिसंबर 2017 को चालान पेश किया था, जिसे कोर्ट ने वापस कर दिया था। इससे यह मामला सामने आया तो तत्कालीन एसपी प्रशांत खरे की रिपोर्ट के बाद पीएचक्यू ने एसडीओपी भदौरिया को अटेर से हटाकर भोपाल अटैच किया था। हाल में इस मामले में अटेर के तत्कालीन एसडीओपी चेतन आर्य ने क्लोजर रिपोर्ट पेश की थी, जिसमें कटारे को उक्त अपराध में साक्ष्य नहीं होने पर शामिल नहीं होना बताया गया था।  न्यायालय ने कटारे को फिर से आरोपी बना दिया।