यहां पार्षद का रिश्तेदार नहीं देता पीने को पानी, आंदोलन करने मजबूर हुए वार्डवासी

PROTEST-FOR-WATER-

 भिंड| भिण्ड के वार्ड क्रमांक 10 के लोगो ने पम्प ऑपरेटर की दबंगई के चलते आज दोपहर नगर पालिका का घेराव कर दिया। साथ ही खाली मटका लेकर वार्ड पार्षद और नगर पालिका के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। आक्रोशित लोगों ने पम्प ऑपरेटर पर अभद्रता का भी आरोप लगाया है। दरअसल शहर के बीटीआई इलाके के वार्ड 10 के पार्षद रामू खटीक ने दो माह पहले पम्प ऑपरेटर पर अपने भाई की नियुक्ति कराई थी। पम्प ऑपरेटर बनने के बाद पार्षद का भाई मनमर्जी से वार्ड में पानी देता था। लोग हेण्डपम्प पर पानी भरने के लिए मजबूर होते थे। वार्ड में जल संकट बढ़ गया था। लेकिन पम्प ऑपरेटर की मनमर्जी के चलते वार्डवासियों का गुस्सा फूट पड़ा। और हाथो में खाली मटका लेकर नगर पालिका का घेराव किया। साथ ही पार्षद रामू खटीक और नगरपालिका प्रशासन के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। लोगो का कहना है कि पम्प ऑपरेटर मनमर्जी से पम्प खोलता है। शिकायत करने पर जबरन धमकाता भी है।

यहां हम बता देंगे भिंड शहर में करीब ढाई लाख की आबादी है और यहां की आधी से ज्यादा आबादी निजी बोरों से या फिर खरीदकर पानी पीने को मजबूर है। कई कालोनियों में पानी की आसमानी लाइनें डली हुई है एक दूसरे के घरों पर होने वाली बोरिंग हो से आदमी पानी खरीदने को मजबूर है । जिन घरों पर निजी पानी के बोर हैं वह दूसरे घरों को 300 से ₹500 प्रति महीने पर पानी की सप्लाई देते हैं। यानी कहा जा सकता है कि नगरीय निकायों का काम और सरकार का काम जनता को बिजली पानी मुहैया कराना होता है लेकिन वर्तमान दौर में न तो जनता को पानी ही मिल पा रहा है और न बिजली।इसीलिए कहीं ना कहीं जनता आंदोलन करने को विवश हो रही है। ऐसा ही कुछ आज भिंड नगरपालिका कार्यालय पर देखने को मिला।