फिर उठी सिंधिया को प्रदेशाध्यक्ष बनाने की मांग, कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी को खून से लिखा पत्र

ज्योतिरादित्य सिंधिया

भिंड़।

मध्यप्रदेश में कांग्रेस संगठन में बदलाव की मांग तेज हो चली है।सिंधिया समर्थकों और मंत्रियों के बाद अब युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग की है। साथ ही कहा है कि सिंधिया को प्रदेशाध्यक्ष बनाए जाने तक वे अपनी अलग-अलग तरह से मुहिम को जारी रखेंगे। अपनी बात राष्ट्रीय अध्यक्ष तक पहुंचाते रहेंगे। इसके लिए उन्होंने अपने खून से राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिखकर भी भेजा है।

दरअसल, चुनाव के बाद से ही कांग्रेस महासचिव और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेशाध्यक्ष बनाने की मांग जोर पकड़ रही है। मंगलवार को अटेर कांग्रेस के प्रवक्ता देवेश शर्मा सोनू के नेतृत्व में कांग्रेस नेता गोल मार्केट पर एकत्रित हुए। यहां कांग्रेस नेताओं ने अपने खून से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिखा, जिसमें मांग की गई कि सिंधिया को प्रदेशाध्यक्ष बनाया जाए। 

सोनू ने कहा कि  सिंधिया के युवा चेहरे से प्रदेश के हर वर्ग के लोगों को आज भी उम्मीद है। उनके प्रदेशाध्यक्ष बनने से युवाओं में जोश आएगा। अगर सिंधिया को प्रदेशाध्यक्ष पद की कमान सौंपी जाती है तो प्रदेश में कांग्रेस को मजबूती मिलेगी। इससे आगामी माह में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव और नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस को लाभ मिलेगा। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि सिंधिया को प्रदेशाध्यक्ष बनाए जाने तक वे अपनी अलग-अलग तरह से मुहिम को जारी रखेंगे। अपनी बात राष्ट्रीय अध्यक्ष तक पहुंचाते रहेंगे।

वही जिला प्रवक्ता अनिल भारद्वाज ने कहा कि लोकसभा चुनाव में के दौरान वे चुनाव नहीं हारे हैं। उनके साथ चुनाव के समय विश्वासघात हुआ है। इस कारण से उनको चुनाव में हार मिली। जिले के युवा कार्यकर्ताआो की नजर में सिंधिया चुनाव नहीं हारे हैं। चुनाव गुना-शिवपुरी की जनता हारी है। क्योंकि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जितना विकास कार्य गुना-शिवपुरी में कराया है। उतना विकास ग्वालियर-चंबल संभाग में किसी भी तत्कालीन सांसद के द्वारा नहीं कराया गया है। कांग्रेस पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की नजर में सिंधिया आज भी पार्टी के स्टार नेता हैं और भविष्य में भी रहेंगे। 

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद से प्रदेश में संगठन में परिवर्तन की मांग उठ रही है। समर्थक लगातार सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की मांग किए हुए है। कमलनाथ सरकार के कई मंत्री भी इस मांग पर हामी भर चुके है। वही जिला कोषाध्यक्ष , दिग्विजय के भाई औऱ चाचौड़ा से कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह के साथ साथ दिग्गज कांग्रेस के नेता विवेक तन्खा के बेटे भी नेतृत्व में परिवर्तन की मांग उठा चुके है।हालांकि पार्टी की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नही दी गई है। 

फिर उठी सिंधिया को प्रदेशाध्यक्ष बनाने की मांग, कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी को खून से लिखा पत्र