राजधानी भोपाल पुलिस की लापरवाही, युवक की जान पर पड़ी भारी, सरेराह अगवा कर आरोपियों ने उतारा मौत के घाट

Avatar
Published on -

BHOPAL CRIME NEWS : नागरिकों की सुरक्षा का दंभ भरने वाली  राजधानी भोपाल की पुलिस की लापरवाही एक युवक की जान ले बैठी, समय रहते अगर भोपाल की गोविंदपुरा थाने की पुलिस युवक को तलाशने का प्रयास करती तो शायद 22 साल युवक आज जिंदा होता। दरअसल सोमवार रात चेतक ब्रिज से अगवा हुए युवक का शव तीन दिन बाद गोविंदपुरा इलाके के जीबीएम स्कूल के पास झाड़ियों में मिली। पुलिस ने इस पूरे मामलें में न सिर्फ मृतक के दोस्त को ही संदिग्ध बनाकर कटघरे में खड़ा कर दिया बल्कि परिजनों की रो रोकर लगाई गुहार को भी अनसुना कर दिया। पुलिस अब भले ही आरोपियों को पकड़कर पीठ थप थपा रही हो, लेकिन इस मामलें में पुलिस की लापरवाही से हुई मौत को अनदेखा नहीं किया जा सकता है। अब परिजनों की मांग है की दोषी पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई की जाए।

यह था मामला 

बुधवार को एक युवक की लाश गोविंदपुरा इलाके के जीबीएम स्कूल के पास झाड़ियों में मिला।  इस दौरान मौके पर मौजूद लोगों ने जब शव को देखा, तो इस बात की जानकारी पुलिस को दी। इधर मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया। मृतक की पहचान खानूगांव के रहने वाले जैद उद्दीन के रूप में हुई। घटना की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि मृतक युवक को दो दिन पहले चेतक ब्रिज से सोमवार देर रात अगवा कर लिया गया था। इस दौरान युवक को ऑटो में ले जाते हुए CCTV फुटेज भी सामने आए थे । जिसके बाद से युवक को ढूंढने का प्रयास किया जा रहा था। मगर आरोपियों का अभी तक कुछ पता नहीं चल सका। युवक के धड़ को कई जगह से काटे जाने के निशान भी मिले हैं। जिसको देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि आपसी रंजिश के चलते इस वारदात को अंजाम दिया गया है। पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ अपहरण और हत्या का मामला दर्ज कर लिया था।  सोमवार देर रात करीब 12 बजे, भेल दशहरा मैदान में चल रहे मेले के बाहर जैद इलेक्ट्रिक ऑटो चलाने वाले दोस्त मोहम्मद शाहवर सवारी का इंतजार कर रहे थे। तभी एक ऑटो चालक उनके ऑटो को टक्कर मारते हुए निकल गया। गाड़ी डैमेज हो गई। दोनों दोस्तों ने ऑटो चालक का पीछा किया। उसे रोककर गाड़ी में किए हर्जाने की मांग करने लगे। जिससे उनका विवाद हो गया।मृतक का दोस्त मौके से अपनी जान बचाकर भाग गया था।गोविंदपुरा थाना प्रभारी अवधेश सिंह तोमर का कहना है कि दो ऑटो चालकों में विवाद के बाद मारपीट हुई थी। मामले में गुमशुदगी दर्ज कर जांच की जा रही थी, बुधवार की सुबह पुलिस ने जैद की बॉडी को बरामद हुई।

पुलिस ने मृतक के दोस्त पर ही शक जता दिया, जबकी वो निकला बेकसूर 

पुलिस ने घटना के बाद थाने पहुंचे जैद के दोस्त  मोहम्मद शाहवर पर ही शक जताया दिया, और उसे थाने में बैठा लिया जबकि वह घटना के फौरन बाद ही पुलिस को सूचना देने पहुंचा था। मगर पुलिस ने उस वक़्त उसकी एक न सुनी।

आरोपी गिरफ्तार 

पुलिस ने  जैद का शव बरामद होने के बाद आरोपियों की तलाश शुरू की, तो मुखबिर से मिली सूचना के बाद कल्लू उर्फ नदीम पिता रईस पठान उम्र 20 साल निवासी म.न.2688 सुपर शादी हाल के पास बागदिलकुशा ऐशबाग भोपाल ( क्राइम ब्रांच टीम द्वारा दस्तयाब ) 10 वीं फ्रूट का धंधा, अर्जुन साहू पिता सुभाष साहू उम्र 20 साल निवासी राकेश साहू की दुकान के पास बैंक कालोनी जहागीराबाद भोपाल  ( क्राइम ब्रांच टीम द्वारा दस्तयाब 12वी फ्रूट का धंधा, नीरज खटीक पिताजयराम उम 22 साल निवासी सुपर शादी हाल के पास बागदिलकुशा ऐशबाग भोपाल 10 वी फ्रूट का धंधा, बृजमोहन पितामानसिंह कार उम्र 26 साल निवासी बागउमराब दूल्हा जैन मंदिर के पीछे आयुष स्कूल के पास ऐशबाग भोपाल 8 वी फ्रूट का धंधा को गिरफ्तार किया जिन्होंने माना की विवाद के बाद उन्होंने जैद को मौके से लोडिंग ऑटो में अगवा किया और गोविंदपुरा इलाके के एक बंद पड़े घर में लाकर बुरी तरह मारा, उसे प्राइवेट पार्ट में बुरी तरह लाते मारी और चाकुओं से जगह जगह काटा, जिससे उसकी मौत हो गई, आरोपियों ने उसके शव को कंबल में लपेटकर इलाके में एक जगह पर झाड़ियों में फेंक दिया।

About Author
Avatar

Sushma Bhardwaj

Other Latest News