फ्लोर टेस्ट से पहले कांग्रेस को मिला इस विधायक का समर्थन, पार्टी से की यह मांग

before-floor-test-independent-MLA-support-congress

बुरहानपुर। शेख रईस। मध्य प्रदेश में टिकट नहीं मिलने से कांग्रेस से बगावत कर निर्दलीय चुनाव लड़े ठा. सुरेंद्र सिंह “शेरा” खुलकर कांग्रेस के समर्थन में आ गए हैं। वह गुरूवार को बुरहानपुर पहुंचे। यहां वह अपने समर्थकों के साथ ही जनता से भी मिले। इस दौरान उन्होंने लोग का आभार प्रकट किया जहां लोगों ने नवनिर्वाचित विधायक का पुष्प मालाओं से स्वागत किया। मीडिया से चर्चा में उन्होंने कहा कि कांग्रेस निश्चित रूप से अभी कुछ और लोगों को मंत्री मंडल में शामिल करेगी। जिसमें टीम के कप्तान कमलनाथ उन्हें भी जगह देगें। उन्होंने कहा कि गेंद अब कांग्रेस के पाले में है। अब पार्टी को यह तय करना है कि वह कैसे निर्दलीय और अन्य पार्टी के विधायकों को एडजस्ट करती है। ठा. सुरेंद्र सिंह ने कहा कि कांग्रेस में बहुत कद्दावर नेता है जो रणनीति तैयार कर जल्द ही उन्हें भी मंत्री बनाने की घोषणा करेंगे। उन्होंने कहा कि हम कांग्रेस के साथ हैं और निश्चित रूप से कांग्रेस एक सफल सरकार चलायेगी। अब हमारा मुख्य उदेश्य केंद्र में राहुल गांधी के नेतृत्व में सरकार बनाने का है।

उधर, कमलनाथ सरकार में मंत्री मंडल में जगह नहीं मिलने से नाराज चल रहे सपा, बसपा और निर्दलीय विधायकों को लेकर यह कयास लगाया जा रहा हैं कि वे विधानसभा सत्र में कांग्रेस के बहूमत साबित करने के दौरान सरकार के लिए मुसिबत पैदा कर सकते हैं, वहीं बुरहानपुर से कांग्रेस के बागी होकर निर्दलीय के रुप में विधानसभा चुनाव जीते ठा. सुरेन्द्र सिंह मंत्री मंडल में जगह नहीं दिए जाने के बाद भी कांग्रेस में विश्वास जताते हुए बड़ा बयान दिया उन्होंने कहा कांग्रेस हमारे अंदर है अब ये कांग्रेस पार्टी को सोचना है कि वे हमें कैसे देखते है।

लोकसभा चुनाव के बारे में जब उनसे बात की गई तो उन्होंने कहा कि अभी मध्यप्रदेश सरकार में शामिल होने से बड़ा लक्ष्य लोकसभा में कांग्रेस की सरकार बनाना है और यदि खंडवा-बुरहानपुर लोकसभा क्षेत्र में कांग्रेस उनसे फ्रंडली प्रत्याशी खड़ा करती है तो बुरहानपुर की जनता उसे जिताने के लिए पूरा सहयोग करेंगी। कांग्रेस पार्टी द्वारा पहली बार विधायक बने नेताओं को मंत्री नहीं बनाये जाने के फार्मूले को लेकर ठा. सुरेंद्र सिंह ने कहा ये फार्मूला कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीते हुए नेताओं पर लागू होना चाहिए न कि निर्दलीय या सपा बसपा पर कांग्रेस को चाहिए कि हमे भी जल्द से मंत्री मंडल में स्थान देकर संतुष्ट करें।