भोपाल : हजारों की संख्या में हाथों में तिरंगा थाम सड़कों पर निकले बच्चे, गूँजा वंदे मातरम

रवि नाथानी, भोपाल। आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान देश भर में आयोजन किए जा रहे है। इन आयोजनों में भोपाल और उपनगर बैरागढ़ भी अछुता नहीं है। शनिवार को संत नगर के लगभग सभी स्कूल के बच्चे हाथों में तिरंगा लेकर सडक़ों पर नजर आए,सडक़ भी भोपाल इंदौर हाई वे। यहां बच्चों ने आजादी के नारों से जय घोष किया और रैली बैरागढ़ के मुख्य मार्ग पर आकर ले आए।

यह भी पढ़ें…. धार कारम डेम लीकेज मामला : CM शिवराज ने बुलाई हाईलेवल मीटिंग

संत नगर के मुख्य मार्ग रैली के समापन पर स्कूल के प्रबंधको और हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा ने बच्चों को संबोधित किया। विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि हम हमारे देश के झुकने नहीं देगे और ना ही किसी दुश्मन के हाथ लगने नहीं देगे। उन्होंने कहा यह तिरंगा हमारे स्वाभिमान का है,तिरंगा हमारी पहचान का है। रामेश्वर शर्मा ने संत नगर के 87 वर्ष के शिक्षाविद् विष्णु गेहानी की तारीफ करते हुए कहा कि इन्होंने देश के विभाजन के दर्द को भी देखा,उन्होंने कहा आजादी का जश्न हम मना रहे है लेकिन विभाजन का दर्द भी है। हे भारत माता इतनी ताकत हमे जरूर देना ताकि लाहौर की धरती पर हम अपना तिरंगा लहरा सके।

यह भी पढ़ें….BJYM का बड़ा एक्शन, महाकाल मंदिर में हंगामा करने वाले 18 पदाधिकारियों को पद से हटाया, उज्जैन नगर-ग्रामीण अध्यक्ष भी शामिल

स्वाभिमान की यात्रा

विधायक रामेश्वर शर्मा ने मंच से कहा यह तिरंगा यात्रा आपके हमारे स्वाभिमान की यात्रा है,यह हमारे सपनों की यात्रा है,यह यात्रा अखंड भारत निमार्ण की यात्रा है। इस यात्रा को पूरा करने के लिए जिन लोगों ने योगदान दिया है उस योगदान को कभी भूलाया नहीं जा सकता।

क्या कहना है पाकिस्तान से आए शिक्षाविद् विष्णु गेहानी का

हम आजादी के वे क्षण भी देखे है और आज का क्षण भी देख रहे है। हमें पाकिस्तान से पलायन कर अलग अलग शहरों में भेज दिया गया था। राजधानी भोपाल का यह उपनगर जिसका नाम बैरागढ़ और अब संत हिरदाराम नगर है यहां कैदियों की बैrik  हुआ करती थी, इन बैरिकों में हमे रूकवाया गया। धीरे-धीरे वक्त गुजरता गया और आज यह संत नगर सिंधी समाज के लिए फक्र करने वाला शहर है। इस शहर के लोगों ने अपनी पहचान खुद बनाई, कपड़े की फेरियां की और आज इसी बैरागढ़ में बड़े बड़े शोरूम और मॉल खुले हुए है। संत नगर के लोग मेहनत करके आगे बढ़े है और अपने मध्य प्रदेश के साथ बैरागढ़ भोपाल का भी नाम रोशन किया है।

भोपाल : हजारों की संख्या में हाथों में तिरंगा थाम सड़कों पर निकले बच्चे, गूँजा वंदे मातरम