MP के इन कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, परफॉर्मेंस के आधार पर मिलेगी नवंबर की सैलरी

इसके तहत कोरोना वैक्सीनेशन के कार्य के आधार पर स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला बाल विकास एवं पंचायत ग्रामीण विकास विभाग के कर्मचारियों का माह नवंबर का वेतन आहरित किया जाएगा।

पेंशन

भोपाल/बड़वानी, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh news) में जारी वैक्सीनेशन अभियान के बीच बड़वानी कलेक्टर (Barwani Collector) का बड़ा बयान सामने आया है। कलेक्टर ने साफ कहा है कि कोरोना वैक्सीनेशन के कार्य के परफॉर्मेंस के आधार पर कर्मचारियों को सैलरी मिलेगी । इसके तहत कोरोना वैक्सीनेशन के कार्य के आधार पर स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला बाल विकास एवं पंचायत ग्रामीण विकास विभाग के कर्मचारियों का माह नवंबर का वेतन आहरित किया जाएगा।

यह भी पढ़े.. Government Job Alert 2021: इस बैंक में निकली है बंपर भर्ती, 23 नवंबर से आवेदन, जानें डिटेल्स

दरअसल, बड़वानी कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा (Barwani Collector Shivraj Singh Verma)  द्वारा जिले में बनाई गई प्रत्येक टीम को प्रतिदिन कम से कम 200 व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य दिया गया है। लक्ष्य से कम काम करने वाली टीम को जहां शोकॉज नोटिस जारी किया जाएगा, वहीं उनका वेतन भी आहरित नहीं किया जाएगा।सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रति बुधवार एवं शनिवार को होने वाले महा अभियान के कार्य में किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अगर किसी कारणवश टीम के द्वारा लक्ष्य पूरा नहीं किया जाता है, तो टीम लक्ष्य पूरा ना करने के कारण का स्पष्ट उल्लेख करें। जिससे कि उच्च स्तर पर आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (VC) में इस बात का उल्लेख किया जा सके।

बड़वानी कलेक्टर ने कहा कि जिले में सभी जगहों पर मोबाइल (Mobile Phone) टीम ऐसी जगह पर जाकर लोगों का वैक्सीनेशन करें जहां पर बड़ी संख्या में लोग एकत्रित होते हैं। साथ ही लोगों को वैक्सीनेशन करवाने के लिए प्रेरित करें एवं उन्हें बताएं कि जिला प्रशासन द्वारा 2 दिसंबर को पहला लकी ड्रा निकाला जाएगा। इस लकी ड्रॉ में ऐसे परिवार जिसके सभी सदस्यों ने कोरोना वैक्सीनेशन के दोनों डोज़ का टीका लगवा लिया है ऐसे लोगों के नाम रहेंगे। और उसमें से 10 परिवारों को एंड्राइड मोबाइल दिया जाएगा।

यह भी पढ़े.. PMFBY: किसानों के लिए अच्छी खबर, अब 31 दिसंबर तक उठा सकते है लाभ, जानें कैसे

इसी प्रकार कलेक्टर ने शनिवार को जिले में चलने वाले वैक्सीनेशन महा अभियान के दौरान जिले के चारों SDM को 20-20 हजार टीकाकरण का लक्ष्य देते हुए निर्देशित किया कि इस लक्ष्य को किस प्रकार प्राप्त करेंगे वे अपने स्तर एवं स्थानीय आवश्यकता अनुसार माइक्रो प्लान बनाकर उस पर अमल करवाएंगे।कलेक्टर ने जोनल अधिकारी के रूप में लगे समस्त जिला अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि वे प्रत्येक वैक्सीनेशन महाअभियान के पश्चात अपने जोनल में लगी टीम के कार्य की समीक्षा करेंगे एवं जिस टीम ने काम काम किया है उसका नाम प्रस्तावित करेंगे। जिससे उनका वेतन रोकने की कार्यवाही की जा सके।

उमरिया और उज्जैन कलेक्टर भी सख्त

इधर, उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह (Ujjain Collector Ashish Singh)  ने भी दो टूक शब्दों में कहा है कि बिना दोनों डोज के सर्टिफिकेट के शासकीय कर्मचारियों (MP Goverment Employees) को इस महीने का वेतन नहीं मिलेगा।  समस्त शासकीय सेवकों को पुन: निर्देशित किया है कि वे 30 नवम्बर तक हर हालत में वेक्सीनेशन का द्वितीय डोज अनिवार्य रूप से लगवाना सुनिश्चित करें। जिला कोषालय अधिकारी को भी निर्देश दिया है कि इस माह नवम्बर के वेतन देयक के साथ शासकीय सेवकों का वेक्सीनेशन प्रमाण-पत्र प्राप्त करना सुनिश्चित करें।  वही उमरिया कलेक्टर ने भी निर्देश दिए है कि समस्त आहरण एवं संवितरण अधिकारी टीकाकरण के दोनो डोज लगवाये जानें का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करें, ताकी नवंबर का वेतन जारी किया जा सके।