सीएम कमलनाथ का पलटवार, बोले-‘अपनी पार्टी की अंतर्कलह पर ध्यान दें शिवराज’

cm-kamalnath-statement-on-shivraj-singh

भोपाल। मध्य प्रदेश में बीजेपी की हार के बाद से ही पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान नित नए बयान देकर सुर्खियों में बने हैं। कभी टाईगर जिंदा है तो कभी कांग्रेस सरकार को वह चेतावनी देते हैं। सत्ता परिवार्तन के महज दस दिन में कई बड़ा बयान चौहान दे चुके हैं। अब उनके बयान पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने तंज कसा है। उन्होंने कहा कि हम शिवराज की वर्तमान मनोस्थिति समझ रहे है। 15 वर्ष की सत्ता जाने का दुःख हम समझ सकते है।

उन्होंने कहा कि हम शिवराज की मनोस्थिति समझ रहे हैं इसलिए उनकी किसी बात का बुरा नहीं मान रहे हैं।  ना ही किसी बात पर कोई टिप्पणी कर रहे है। वे हमारी सरकार को कभी कमज़ोर बता रहे है, कभी कह रहे है पूरा समय नहीं करेगा, कभी कुछ और। 15 वर्ष की सरकार जाने का दुख हम समझ सकते हैं।  जनता ने उन्हें घर बैठाया है। उन्हें अब आराम करना चाहिये। अब उन्हें हमारी चिंता छोड़ अपनी पार्टी पर ध्यान देना चाहिये। हार के बाद अपनी पार्टी में मची अंतर्कलह पर ध्यान देना चाहिये। ख़ुद के लिये उपयुक्त पद प्राप्ति पर ध्यान देना चाहिये। जिसके लिये उन्हें संघर्ष करना पढ़ रहा है। अपनी पार्टी में नेता प्रतिपक्ष व अन्य पद तय करवाना चाहिये।

अभी तो सिर्फ़ 10 दिन ही हुए है, अभी तो उनको वर्षों तक आराम करना है। कांग्रेस की सरकार मज़बूत सरकार है। अपना कार्यकाल पूरा करेगी। कोई असंतोष नहीं है। शिवराज हमारी चिंता छोड़ दे। हमारे वचन पत्र के सारे वादे हम पूरा करेंगे। क़र्ज़ माफ़ी को अपने कार्यकाल में साफ़ नकारने वाले शिवराज को तो इस पर बोलने तक का हक़ नहीं है। जनता ने भाजपा को विकास के लिये पूरे 15 वर्ष दिये। जिसमें वो नाकामयाब हुए। इसलिये जनता ने उन्हें घर भेज दिया। हमें पूरे 5 वर्ष के लिये जनादेश मिला है। शिवराज इतनी जल्दी बेचैन ना हो। लेकिन अपनी पार्टी में सक्रियता दिखाने के लिये व सिर्फ़ चर्चा में बने रहने के लिये वे इस तरह की बयानबाज़ी कर रहे है। जनता भी सब समझती है।