ट्रेन में महिला से छेड़छाड़ के आरोप में कांग्रेस ने अपने विधायकों को दी क्लीनचिट

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। रेवांचल ट्रेन में सफर के दौरान महिला से छेड़खानी के मामलें में कांग्रेस के दोनों विधायकों को पार्टी ने क्लीन चिट दे दी है। महिला से छेड़छाड़ करने के आरोपों से घिरे विधायक सिद्धार्थ कुशवाहा और सुनील सराफ़ को मप्र कांग्रेस कमेटी ने क्लीनचिट दी है। पीसीसी में हुई कांग्रेस की अनुशासन समिति की बैठक में दोनों विधायकों के खिलाफ की गई शिकायत को झूठा मानते हुए यह क्लीनचिट दी है। जबकि इस मामलें में भोपाल में जीआरपी ने महिला की शिकायत पर मामला दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें….कांग्रेस के दो विधायकों पर गंभीर आरोप, चलती ट्रेन में नशे में किया महिला से दुर्व्यवहार

गौरतलब है कि कांग्रेस के सतना से विधायक सिद्धार्थ कुशवाहा और कोतमा के विधायक सुनील सराफ़ पर एक महिला ने सफर के दौरान बदतमीजी करने का आरोप लगाया था जिसके बाद महिला ने पति को फोन पर इस मामलें की जानकारी दी थी, महिला के पति ने घटना को लेकर रेल मंत्री से लेकर अधिकारियों तक को इस घटना के बारे में ट्वीट कर दिया था, जिसके बाद महिला की रिपोर्ट पर भोपाल में जीआरपी थाने में मामला दर्ज किया था वही कांग्रेस ने भी इस मामलें में कांग्रेस ने अनुशासन समिति को जांच के लिए मामला सौंपा था, समिति ने कांग्रेस विधायकों को ट्रेन में महिला से छेड़छाड़ के आरोपों से बरी कर दिया है, इस मामलें में कमेटी का कहना है कि जो मामला जानकारी में आया है उससे यह लगता है कि शिकायत झूठी है विधायकों के खिलाफ कोई सबूत नहीं हैं। हमारे विधायकों ने जो जवाब पीसीसी को दिया है उससे कांग्रेस कमेटी संतुष्ट है। मप्र कांग्रेस कमेटी विधायकों के खिलाफ कार्रवाई का कोई प्रस्ताव नहीं हैं। पुलिस में मामला दर्ज होने के बाद ये मामला अब न्यायालय के अधीन है।

यह भी पढ़ें…. सागर : घर से लापता प्रेमी जोड़े के शव पेड़ से लटकते मिले, आत्महत्या या ऑनर किलिंग, पुलिस जुटी जांच में

88 शिकायतों पर हुई चर्चा 44 को शो-कॉज नोटिस

वही कांग्रेस के संगठन प्रभारी चंद्रप्रभाष शेखर ने बताया कि रविवार को अनुशासन समिति की बैठक में कुल 88 शिकायतों पर चर्चा हुई है। जिनके खिलाफ शिकायतें आई हैं ऐसे 44 कार्यकर्ताओं को शो-कॉज नोटिस दिए गए हैं। 5 कार्यकर्ताओं के खिलाफ गंभीर शिकायतें होने और उनके संतोषजनक जवाब न मिलने पर निष्कासन की कार्रवाई की गई है। अनुशासन समिति के अध्यक्ष भारत सिंह ने बताया नगरीय निकाय चुनाव के बाद अनुशासन समिति को कई शिकायतें मिलीं थीं। उनके संबंध में आज चर्चा हुई। जिन लोगों ने पार्टी के खिलाफ काम किया है उनके निष्कासन की अनुशंसा की गई है।

कांग्रेस नेता हुए निष्कासित

उज्जैन– जिला कांग्रेस कमेटी (ग्रामीण) के अध्यक्ष कमल पटेल, महिदपुर ब्लॉक अध्यक्ष गजराज सिंह पंवार, हीरालाल आंजना, गोपी आंजना, विक्रम आंजना पर महिदपुर के वार्ड 13 में अधिकृत कांग्रेस प्रत्याशी के खिलाफ काम करने की शिकायत मिली थी। कांग्रेस अनुशासन समिति ने इन नेताओं के निष्कासन की अनुशंसा की है।

आगर– कांग्रेस जिलाध्यक्ष बाबूलाल यादव ने कांग्रेस नेता दुर्गालाल पालीवाल पर कार्रवाई के लिए पीसीसी को पत्र भेजा था। पालीवाल ने सोशल मीडिया पर कांग्रेस के नेताओं और जिला पदाधिकारियों पर सार्वजनिक तौर पर टिप्पणी की थी। अनुशासन समिति ने दुर्गालाल के निष्कासन की अनुशंसा की है।