कांग्रेस विधायक के बगावती तेवर, बोले- ‘अब राजा की ही सुनूंगा’

भोपाल।

मुरैना के सुमावली से विधायक, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और दिग्विजय सिंह के खासम खास माने जाने वाले एन्दल सिंह कंसाना ने अब मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ ताल ठोक दी है। दरअसल चार बार के विधायक होने के बावजूद भी एन्दल सिंह मंत्री नहीं बन पाए जिसके चलते वह खासे नाराज हैं ।उनका कहना है कि उनको कमलनाथ ने लोकसभा चुनाव के पहले आश्वासन दिया था कि उन्हें जल्द मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा ।बावजूद इसके उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया।विधायक का बयान ऐसे समय पर आया है जब सीएम कमलनाथ और दिग्गज नेता सिंधिया के बीच तकरार बनी हुई है।विधायक के इस बयान के बाद सियासी गलियारों में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। वही दिल्ली तक हलचल तेज हो चली है।

एन्दल की पीड़ा है कि मुरैना जिले से 6-6 विधायक होने के बावजूद कांग्रेस का एक भी विधायक मंत्री पद पर नहीं है और इसका खामियाजा कांग्रेस को जौरा में होने वाले विधानसभा उपचुनाव में भुगतना पड़ सकता है ।एन्दल सिंह कंसाना ने यह भी कहा कि उनको खुद मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ-साथ कांग्रेस के प्रभारी दीपक बावरिया आश्वस्त कर चुके थे कि वे मंत्रिमंडल में जल्द जगह पाएंगे लेकिन उनसे कई जूनियर लोगों को मंत्रिमंडल में जगह मिल गई और वह जस के तस विधायक ही है। एन्दल सिंह कंसाना ने यह भी कहा कि वह अब केवल राजा यानी दिग्विजय सिंह की बात सुनेंगे ।राजा जो कहेंगे वह मानेंगे। वर्तमान में ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके समर्थकों की नाराजगी झेल रहे कमलनाथ के लिए कांग्रेस के एक और विधायक की नाराजगी एक बार फिर मुसीबत का सबब बन रही है।

वही एक निजी चैनल से चर्चा करते हुए कहा कि अपनी ही पार्टी को धमकी भरे लहजे में कहा कि अगर उन्हें मंत्री नहीं बनाया तो उपचुनाव में होगा पार्टी को बड़ा नुकसान झेलना होगा।कंसाना ने जौरा विधानसभा उपचुनाव में नुकसान होने की धमकी दी है और कहा है कि मेरे दुख से बड़ा विस्फोट होगा।

टाइम्स नाउ के सौजन्य से-गोविंद गुर्जर की विधायक एन्दल सिंह कंसाना से खास बातचीत

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here