कोरोना अलर्ट, शिवराज सरकार का बड़ा निर्णय, गरीबों को होगा यह लाभ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj singh chouhan) ने बड़ा निर्णय लेते हुए साफ कहा है कि कोरोना (corona) के कारण अब लॉकडाउन (lockdown) नहीं होगा। बजाय इसके सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनना और कोरोना से बचने के ऐहतियातन उपायों को अपनाने पर जोर दिया जाएगा। शिवराज ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे मजदूरी के लिए दूसरे राज्य में पलायन करने वाले मजदूरों (labours) को गांव में ही रोजगार देने की व्यवस्था करें और उसके लिए मनरेगा से इंतजाम पूरे किए जाएं।

ये भी देखिये- Indore News : इंदौर में फिर आए 105 पॉजिटिव मरीज, प्रशासन अलर्ट

बता दें कि पिछले 24 घंटे में कोरोना के 344 नए मामले सामने आए हैं। इनमें दो की मौत हुई है लेकिन 230 मरीज ठीक भी हुए हैं। छिंदवाड़ा और मंदसौर में एक-एक मरीज की मौत हुई है। सीएम शिवराज ने साफ किया कि आर्थिक गतिविधियों को प्रभावित नहीं होने दिया जाएगा और इसलिये लॉकडाउन करने का सरकार का कोई विचार नहीं है। भोपाल, इंदौर, बैतूल, जबलपुर, छिंदवाड़ा जैसे जिलों में कोरोना बढ़ने के मद्दे वहां विशेष सावधानियां रखने के निर्देश भी कलेक्टरों को दिए गए। इसी के साथ साथ शिवराज ने निर्देश दिए कि छिंदवाड़ा,पचमढ़ी और बैतूल में लगने वाले मेले भी स्थगित कर दिये जाए। महाराष्ट्र मजदूरी के लिए जाने वाले मजदूरों की मजदूरी का विशेष ध्यान रखने के लिए निर्देश दिए गए हैं।इसके साथ ही महाराष्ट्र से आने वालों की स्क्रीनिंग प्रदेश की सीमा पर करने एवं रिपोर्ट नेगेटिव होने पर ही व्यक्तियों को प्रदेश में प्रवेश के निर्देश भी दिए गए हैं।

ये भी देखिये- कोरोना वैक्सीनेशन पर सरकार का बड़ा फैसला ,1 मार्च से 60 वर्ष के बुजुर्गों को लगेंगे टीके 

सभी कलेक्टरों (collectors) को निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी प्रकार के लाकडाउन व नाइट कर्फ्यू (night curfew) के संबंध में राज्य सरकार की अनुमति जरूर लें और क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप (crisis management group) की बैठक में कोरोना से बचने के उपाय ढूढे। सरकार अब कोरोना से बचने रोको टोको अभियान भी चला रही है।