Electricity Bill: मप्र के बिजली उपभोक्ताओं के लिए राहत भरी खबर

इससे ऊर्जस एप (urjas app) के माध्यम से बिजली आपूर्ति संबंधी समस्या का निराकरण कम समय में उच्च स्तरीय मानिटरिंग के साथ हो रहा है।

Electricity Bill

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बिजली उपभोक्ताओं (Electricity Consumers) के लिए राहत भरी खबर है।अब बिजली बिल (Electricity Bill ) संबंधित कोई भी शिकायत हो उसका जल्द निराकरण होगा। इसके लिए मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने ऊर्जस एप लांच किया है, जिसका उपभोक्ताओं द्वारा तेजी से प्रयोग किया जा रहा है।अबतक मालवा-निमाड़ के 431 उपभोक्ताओं को इसका लाभ मिला है।

यह भी पढ़े.. 4 लाइसेंस निलंबित, 13 कर्मचारियों को नोटिस, 4 पटवारियों की वेतन वृद्धि रोकी

दरअसल, सूचना प्रौद्योगिकी के युग में बिजली कंपनी के ऊर्जस एप के माध्यम से भी उपभोक्ताओं की शिकायतों का समय पर तेजी से समाधान किया जा रहा है। पिछले चौबीस घंटे के दौरान मालवा और निमाड़ के 431 उपभोक्ताओं ने बिजली संबंधी शिकायतें दर्ज कराई। इनका समय पर निराकरण किया गया।

मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी (MP West Zone Electricity Distribution Company) के प्रबंध निदेशक अमित तोमर ने बताया कि ऊर्जा मंत्री  प्रद्युम्न सिंह तोमर (Energy Minister Pradyuman Singh Tomar) के निर्देशानुसार उपभोक्ता सेवाओं को अत्याधुनिक किया गया है। ऊर्जस एप के माध्यम से बिजली आपूर्ति एवं अन्य विषयों से संबंधित शिकायतों का समाधान तेजी से कराया जा रहा है।

यह भी पढ़े.. MP School: मप्र के शिक्षकों के लिए काम की खबर, 1 से 5वीं के छात्रों को होगा लाभ

पिछले चौबीस घंटों में ऊर्जस एप पर कुल 431 शिकायतें दर्ज की गई । इनमें इंदौर जिले की 300, धार की 45, खंडवा-उज्जैन की 19-19, देवास की 42, बुरहानपुर 11, रतलाम की 8 शिकायतों का समाधान किया गया।सूचना प्रौद्योगिकी व्यवस्था के तहत बिजली कंपनी (electricity company)के ऊर्जस एप में दर्ज शिकायतों की जानकारी अगले ही सेकंड काल सेंटर 1912 के कम्प्यूटर पर नजर आती है।

कॉल सेंटर के दूसरे आपरेशनल सिस्टम से ये जानकारियां संबंधित उपभोक्ता के फीडर, जोन, ग्रुप से संबंधित बिजली कर्मियों तक पहुंच जाती हैं। इस पूरी गतिविधि में दो से तीन मिनट ही लगते हैं। इसके बाद समाधान का क्रम प्रारंभ हो जाता है। इससे ऊर्जस एप (urjas app) के माध्यम से बिजली आपूर्ति संबंधी समस्या का निराकरण कम समय में उच्च स्तरीय मानिटरिंग के साथ हो रहा है।

यह भी पढ़े.. मध्य प्रदेश के कर्मचारियों के लिए काम की खबर, रुकेंगे बिल, अटक सकती है सैलरी