जमीन हथियाने का सहारा बने मंदिर, पट्टा देने के लिए विधेयक लाएगी सरकार

government-will-bring-a-bill-to-give-lease-to-the-temples

भोपाल। प्रदेश सरकार द्वारा सरकारी जमीन पर कब्जा करके बनवाए गए मंदिरों को पट्टा देने की घोषणा के बाद अब प्रदेश भर में मंदिर बनवाये जा रहे हैं। राजधानी भोपाल में शहर के बाहरी क्षेत्र में कॉलोनियों में खाली पड़ी सरकारी जमीन पर मंदिर बनवाए जा रहे हैं। इसी तरह प्रदेश के दूसरे जिलों में भी लोग सरकारी जमीन पर मंदिर बनवा रहे हैं। जिन लोगों ने सरकारी जमीन पर कब्जा किया था, वे भी जमीन हथियाने के लिए मंदिर का सहारा ले रहे हैं। धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री पी.सी. शर्मा ने ऐलान किया है कि  शासकीय जमीनों पर बने मंदिरों, जहाँ नियमित पूजा-पाठ हो रहा है को पट्टा देने के लिए विधेयक लाया जाएगा। 

शर्मा ने कहा कि मठ-मंदिर और संस्कृति संरक्षण के लिये राज्य सरकार प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि नर्मदा ट्रस्ट में संतों के नामांकन के संबंध में विचार किया जाएगा। संत-पुजारी संगठनों की मांगे पूरी की जाएंगी। बैठक में विभिन्न जिलों से बड़ी संख्या में आये संत, पुजारी शामिल हुए।

जमीन हथियाने का सहारा बने मंदिर

प्रदेश भर में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण है। सरकार की घोषण के बाद सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करने वालों ने अब मंदिर बनवाना शुरू कर दिया है। क्योंकि सरकार अब मंदिर की जमीन का पट्टा देगी।