भोपाल में पॉश गाड़ियों, वॉल्वो बस को निशाना बनाने वाले हाईप्रोफाइल छात्र पुलिस हिरासत में

इस घटना में उच्च अधिकारी ने कोहेफिजा के सब इंस्पेक्टर विनोद पांडे को सस्पेंड कर दिया है। दोनों ने वरिष्ठ अधिकारियों को घटना की जानकारी नहीं दी। धाराएं नहीं लगाईं, सिर्फ NCR काटकर मामला दबा दिया था।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल में पॉश एरिया में महंगे वाहनों को निशाना बनाकर वीडियो वायरल करने वाली गैंग के सदस्य स्कूली छात्र निकले। हाई प्रोफाइल स्कूलों में पढ़ने वाले ये बच्चे ऐसी हरकतों को अंजाम दे रहे थे। यह दोस्त आपस में शर्त लगाकर वोल्वो और ऑडी जैसी महंगी गाड़ियों के कांच फोड़ते थे,  घटना को अंजाम देते हुए यह नाबालिग दोस्त पॉश कॉलोनियों में लग्जरी गाड़ियों के कांच तोड़ने का वीडियो बनाते थे। वीडियो बनाने के बाद दोस्तों के बीच रौब जमाने के लिए ये अपने फ्रेंड सर्कल में इसे शेयर करते थे।

वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने चार नाबालिगों को हिरासत में लिया हैं।  मामले में DCP रियाज इकबाल ने श्यामला हिल्स थाना प्रभारी एलडी मिश्रा और कोहेफिजा के सब इंस्पेक्टर विनोद पांडे को सस्पेंड कर दिया है। दोनों ने वरिष्ठ अधिकारियों को घटना की जानकारी नहीं दी। धाराएं नहीं लगाईं, सिर्फ NCR काटकर मामला दबा दिया था। इन चारों लड़कों ने दिन में खाली रोड के किनारे खड़े वाहनों को निशाना बनाया और बाकायदा कांच तोड़ते हुए वीडियो बनाया, इन दोस्तों ने कोहेफिजा, श्यामला हिल्स जैसे पॉश एरिया में बंगलों के बाहर खड़ी 10 गाड़ियों के पत्थर मारकर कांच फोड़ डाले थे। 50 लाख रुपए तक की कार और 1 करोड़ की बस के कांच तोड़ दिए थे। घटना रविवार की है।

यह भी पढ़े.. इंदौर में पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म मामला, आरोपी पति के दोस्तों के घर में पुलिस की दबिश

सोशल मीडिया में VIDEO सामने आने के बाद पुलिस ने चारों नाबालिगों को हिरासत में लिया है। तीन नाबालिग बाल भवन स्कूल में पढ़ते हैं। एक कॉन्वेंट स्कूल का स्टूडेंट है। 9th और 10th के स्टूडेंट्स हैं। श्यामला हिल्स, कोहेफिजा थाने में तीन-तीन शिकायतें अब तक पहुंची हैं। चारों दोस्त तलैया, श्यामला हिल्स के रहने वाले हैं। गाड़ियों में तोड़फोड़ करने के पीछे इनका मकसद दोस्तों को VIDEO शेयर कर उनके बीच रौब दिखाना था। यह सभी लड़के मॉर्निंग वाक के लिए निकलते थे और फिर उसी दौरान घटना को अंजाम देते थे। फिलहाल पुलिस ने इनके परिजनों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया जिन्होंने इनके नाबालिग होने के बावजूद इन्हे दो पहिया वाहन चलाने के लिए दिया।