MP: शासकीय मेडिकल कॉलेजों में डॉक्टरों के मासिक स्टायपेंड में वृद्धि, आदेश जारी

विभाग ने शासकीय मेडिकल कॉलेजों (government medical colleges) में डॉक्टरों (Doctors) के मासिक स्टायपेंड में वृद्धि कर दी है।

डॉक्टर
Doctor 1

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल खत्म होने के बाद चिकित्सा शिक्षा विभाग ने बड़ी राहत दी है। चिकित्सा शिक्षा विभाग ने शासकीय मेडिकल कॉलेजों (government medical colleges) में डॉक्टरों (Doctors) के मासिक स्टायपेंड में वृद्धि कर दी है। इस मामले में विभाग ने आदेश जारी कर दिए है।

यह भी पढ़े.. MP में एक्टिव केस 9 हजार से नीचे, सीएम बोले- 15 जून तक जारी रहेगा कर्फ्यू और..

चिकित्सा शिक्षा विभाग (medical education department) द्वारा आदेश में कहा गया है कि उपरोक्त स्टायपेंड प्रतिवर्ष वृद्धि वर्ष के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित रहेगी।प्रथम वृद्धि 1 अप्रैल 2022 से लागू करने की भी स्वीकृति दी जाती है।वही जूनियर डॉक्टरों के बाद अब नर्सेस ने भी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और 10 जून तक मांगों का निराकरण नहीं होने की स्थिति में हड़ताल की बात कहीं है।

यह भी पढ़े.. सीएम शिवराज सिंह का बयान- 30 सितम्बर तक पूरा होगा ये काम, हर हफ्ते करेंगे बैठक

बता दे कि एक हफ्ते से जारी जूनियर डॉक्टर्स ने आज चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (Medical Education Minister Vishwas Sarang) से मुलाकात के बाद हड़ताल खत्म कर दी। हालांकि, जूडा की 24 फीसद तक तक मानदेय बढ़ाने की मांग को सरकार ने नहीं माना है, लेकिन उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के आधार पर सरकार ने बढ़ोतरी कर दी है। जूडा ने कहा है कि हाईकोर्ट के निर्देश के सम्मान में हड़ताल खत्म की है।

 

 

डॉक्टर MP: शासकीय मेडिकल कॉलेजों में डॉक्टरों के मासिक स्टायपेंड में वृद्धि, आदेश जारी