विधायक दल की बैठक में सीएम ने साधा बीजेपी पर निशाना, बोले झूठ फैलाने वाले तंत्र से रहें सतर्क

kamalnth-target-bjp-in-mla-meeting

भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश में कांग्रेस सरकार के भविष्य पर उठ रहे सवाल और सरकार गिराए जाने की अटकलों के बीच ए�� बार फिर भाजपा पर अप्रत्यक्ष रूप से हमला किया है। उन्होंने कांग्रेस के विधायकों से कहा कि हम सभी अपने कामों से उनको मुंहतोड़ जवाब देंगे, जो कि सत्ता में आने के लिए छटपटा रहे हैं।

कमलनाथ ने लोकसभा चुनाव के बाद यहां रविवार को हुई कांग्रेस विधायकों की बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश के विकास से जुड़े विषयों और लोकसभा चुनाव परिणाम पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि विविधता में एकता भारत की वैश्विक पहचान है। इसे धूमिल करने के प्रयास हो रहे हैं, जिन्हें सफल नहीं होने दिया जाएगा। विकास से जुड़े मुद्दों को ताक पर रखकर एक विषैला वातावरण तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि झूठी सूचनाओं पर आधारित वीडियो, आडियो सोशल मीडिया में चलाए जा रहे हैं। इनसे सावधान रहें और दूसरों को भी सावधान करें। उन्होंने विधायकों से कहा कि जनता की समस्याएं सुनकर उनका समाधान करें। कलेक्टर और मंत्री के ध्यान में लाएं। विकास के कामों को प्राथमिकता दें। झूठ फैलाने के नए-नए तरीके सामने आ रहे हैं। इनके प्रति सावधान रहें और झूठ फैलाने के तंत्र को नष्ट करने के लिए सतर्क रहे।

लोकसभा चुनाव परिणामों पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने विकास से जुड़े सभी मुद्दे पूरी दमखम के साथ उठाए। केंद्र सरकार की असफलताओं को जनता के सामने रखा। सभी जनता के मुद्दे थे, इसके बावजूद जनादेश का सम्मान करना चाहिए। हार जीत लगी रहती है। राजनीति में न कोई स्थाई विजेता होता है और न ही असफलता स्थाई होती है। इस चुनाव से कई सबक लेने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि जनता ने प्रदेश में जो हमे��� जनादेश दिया है उसके विश्वास पर हम सभी खरे उतरें। साथ ही आप जनता से निरंतर संवाद कर उन्हें विश्वास दिलाएं कि कांग्रेस पार्टी के जो वचन हैं वह पूरे होंगे। सिर्फ 76 दिन में 83 वचन पूरा करना कांगे्रस सरकार की एक बड़ी उपलब्धि नहीं है। वह भी उन परिस्थितियों में जब हमें पूर्ववर्ती सरकार ने खाली खजाना दिया है। उन्होंने कहा कि शेष वचन पूरे करने का समय है। इसी के जरिए हमें जनता के विश्वास पर खरे उतरेंगे। अपनी और सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता होगी कि हम उन वचनों को पूरो करें, जो आचार संहिता लगने के कारण अधूरे रह गए है। हमारी आज की सबसे बड़ी जरूरत है कि अगले पांच साल में हम प्रदेश की एक तस्वीर बनाएं जिसमें आम आदमी, किसान, युवा, दलित, आदिवासी और अल्पसंख्यक वर्ग का सरकार के प्रति विश्वास और अधिक मजबूत हो। हम कृषि क्षेत्र में एक नई क्रांति लाने का काम करने जा रहे है। बेरोजगारी के दंश से झूल रहे युवाओं को रोजगार के नए और सुनिश्चित अवसर उपलब्ध कराने की हमारी कोशिशें जारी है। हम सभी को मिलकर उन्हें अपने कामों से मुंहतोड़ जवाब देंगे, जो सत्ता में आने के लिए छटपटा रहे हैं। समीक्षा बैठक में सभी विधायकों ने कहा कि आने वाले पांच वर्ष में कांग्रेस पार्टी द्वारा दिए गए वचनों को पूरा करके प्रदेश में विकास की एक नई इबारत लिखेंगे। यह इबारत किसानों की खुशहाली, नौजवानों को रोजगार, दलित आदिवासियों को उनके अधिकार, अल्पसंख्यक के विकास और आम जनता की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने वाली होगी। हमारा संकल्प है हम सभी एकजुट होकर प्रदेश को समृद्ध बनाने के लिए एकजुटता के साथ काम करेंगे।