लक्ष्मण सिंह का अपनी ही पार्टी पर निशाना, ‘जय श्रीराम कहने से नहीं बढ़ेगा कांग्रेस का वोट’

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
अयोध्या में राम मंदिर भूमिपूजन (Ram Mandir Bhumipujan) के बाद मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कांग्रेस (Congress) की लाइन बदलती नजर आ रही है| चुनावी मौसम में कांग्रेस रामभक्ति में लीन दिखाई दे रही है| इसको लेकर भाजपा तो निशाना साध ही रही है| अब कांग्रेस के ही वरिष्ठ विधायक लक्ष्मण सिंह (MLA Lakshman Singh) ने अपनी ही पार्टी को निशाने पर लिया है| उन्होंने कहा कि रामभक्ति दिखाने और शुद्धीकरण से कांग्रेस का कुछ नहीं होगा। ऐसा करके हम अपना ही नुकसान करेंगे।

मीडिया से चर्चा में दिग्विजय सिंह के भाई और कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह का कहना है कि कांग्रेस को सही मुद्दों को उठाना चाहिए, जय श्री राम और शुद्धिकरण करने से कुछ नहीं होगा| ऐसा करने से कांग्रेस का वोट नहीं बढ़ेगा, बल्कि बहुजन समाज पार्टी का वोट जरूर बढ़ेगा| हमें जनता से जुड़े मुद्दों को उठाना चाहिए| बहुत से ऐसे मुद्दे हैं जिन्हे हमें उठाना चाहिए, नहीं तो बसपा को लाभ मिलना निश्चित है|

अपनी ही पार्टी को दिखाते रहे हैं आइना
यह पहला मौका नहीं है जब लक्ष्मण सिंह ने पार्टी लाइन से अलग जाकर बात कही हो। इससे पहले भी वे बेबाकी से अपनी ही पार्टी पर सवाल खड़े करते हुए पार्टी को आइना दिखा चुके हैं| हालही में उन्होंने राम के नाम पर राजनीति बंद करने की नसीहत दी थी| इससे पहले भी उन्होंने अपने एक ट्वीट में कहा था, हम कांग्रेस के साथी भाजपा, संघ की विचारधारा को निरन्तर कोसते हैं, मैं भी उनकी विचार धारा से सहमत नहीं हूं, परंतु कांग्रेस की विचार धारा कहां लुप्त हो गई कि चुनाव में हमें “दुष्ट’ तांत्रिक बाबाओं की मदद लेनी पड़ रही है|