MP : सीएम शिवराज देंगे सौगात, शहरी और ग्रामीण जनता दोनों को होगा लाभ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राजधानी भोपाल में निकलने वाले गीले कचरे और गोबर से अब बायो सीएनजी बनेगी। इसके लिए भोपाल में प्लांट की स्थापना की जाएगी।  इस प्लांट के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भूमिपूजन करेंगे। कार्य्रकम बुधवार 06 अप्रैल 2022 को होगा, मुख्यमंत्री इसी दिन राजधानी में 6 सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का लोकार्पण भी करेंगे।

निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 6 अप्रैल को शाम 6 बजे गोबर धन प्लांट का भूमि-पूजन करेंगे और अमृत मिशन में निर्मित 6 सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट एवं जे.के. हॉस्पिटल के पास नव-निर्मित पुल का लोकार्पण करेंगे। कार्यक्रम जे.के. हॉस्पिटल के पास डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी नगर (कोलार) में होगा।

ये भी पढ़ें – शिवराज कैबिनेट के बड़े फैसले- 5 नए औद्योगिक क्षेत्रों की स्थापना, इस योजना में बड़ा बदलाव

गौरतलब है कि नगर निगम भोपाल द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के तहत भोपाल शहर से निकलने वाले 400 टन गीले कचरे एवं गोबर से बायो सी.एन.जी. निर्माण के लिए प्लांट स्थापित किया जा रहा है। गोबर धन प्लांट से आस-पास के गाँवों को जोड़ा जायेगा, जिससे किसानों को जैविक खाद उपलब्ध हो सकेगी।

बायो सीएनजी के फायदे  

इस प्रोजेक्ट से निर्मित बायो सीएनजी लगभग 250 सिटी बसों को मार्केट रेट से 5 रुपये कम पर मिलेगी। प्रतिवर्ष एक लाख 5 हजार टन कार्बन उत्सर्जन में कमी आयेगी। प्लांट की स्थापना में अनुमानित खर्च 80 करोड़ रूपये आयेगा, जो कार्यरत एजेंसी द्वारा ही वहन किया जायेगा। नगर निगम को प्रतिवर्ष एक करोड़ 66 लाख रूपये की रायल्टी भी मिलेगी।

ये भी पढ़ें – उमा के पत्थर पर बोले मंत्री जी, ‘दुकानदार कराए FIR, सरकार थोड़ी कराएगी,

सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट

अमृत योजना में 223 करोड़ रुपये से निर्मित 6 सीवेज ट्रीटमेंट का लोकार्पण किया जायेगा। जमुनिया छीर, बंसल हॉस्पिटल के पीछे, नीलबड़, सनखेड़ी, मक्सी और प्रोफेसर कॉलोनी भोपाल में निर्मित ट्रीटमेंटट प्लांट का लोकार्पण भी होगा।

ये भी पढ़ें – राम नवमी को लेकर सीएम शिवराज ने जनता से की ये अपील