MP News : वर्ग 1 के वेटिंग शिक्षकों ने शुरू किया महाआंदोलन, पद वृद्धि की मांग को लेकर उतरे सड़क पर

सरकार के पास हजारों पद खाली हैं, अतिथि शिक्षकों के लिए भर्ती विज्ञापन निकाले हैं तो हमें नौकरी क्यों नहीं दे रहे आयुक्त इसका जवाब दें, हम इस बार आर पार की लड़ाई लड़कर रहेंगे और अपना हक लेकर रहेंगे। 

Atul Saxena
Published on -
Teachers Protest

MP News :  शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ग 1 (2023) में उत्तीर्ण हुए अभ्यर्थी भर्ती नहीं किये जाने से अपना धैर्य खोते जा रहे हैं, उन्होंने अब आर पार की लड़ाई का मूड बना लिया है, हालाँकि DPI ने उनके प्रमाणपत्र सत्यापन की प्रक्रिया शुरू कर दी है लेकिन अब ये लोग पद वृद्धि की मांग का रहे हैं, इनका कहना है कि स्कूलों में हजारों पद खली पड़े हैं, सरकार उन्हें पूरा क्यों नहीं भर रही?इसका जवाब उसे देना होगा।

चुनावों से फ्री हुई मप्र सरकार ने अब खाली पड़े पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू कर दी है, मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव के निर्देश पर सभी विभाग अपने यहाँ के रिक्त पदों की जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं इस बीच वर्ग 1 की पिछले साल की परीक्षा में चयनित हुए शिक्षक अपनी नियुक्ति का इन्तजार कर रहे हैं।

वर्ग 1 चयनित वेटिंग शिक्षकों का महा आंदोलन 

नियुक्ति के लिए लगातार इन्तजार कर रहे उच्च माध्यमिक शिक्षक मांग कर रहे हैं कि उनके पद बढ़ाये जाएँ जिससे खाली पड़े पद भरे जा सकें और स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था में सुधार हो सके, शिक्षा विभाग की तरफ से चयनित वेटिंग अभ्यर्थियों के डॉक्यूमेंट सत्यापन की प्रक्रिया शुरू की गई है लेकिन इन लोगों ने अब आंदोलन की राह पकड़ ली है।

प्रदर्शन करते हुए DPI ऑफिस पहुंचे  

आज प्रदेश के वर्ग एक 2023 के चयनित अभ्यर्थी रानी कमलापति रेलवे स्टेशन पर इकट्ठा  हुए और भोपाल की सड़कों पर प्रदर्शन करते हुए निकले, ये लोग भाजपा कार्यालय पहुंचे लेकिन उन्हें यहाँ कोई आश्वासन नहीं मिला, भाजपा कार्यालय से होते हुए सभी लोग DPI कार्यालय की तरफ निकल गए।

सरकार से मांग नौकरी से या फिर इच्छा मृत्यु की अनुमति दे दे 

आंदोलनकारियों ने कहा कि सरकार पुलिस से हमें डराती तो इससे अच्छा है हमें आजीवन कारावास दे दे , सरकार या तो पद वृद्धि आकरे या फिर हमें इच्छा मृत्यु दे दे, उन्होंने कहा कि हमें भाजपा को 29 सीटें दिलवाई , मोदी जी को तीसरी बार शपथ दिलवाने में बड़ी भूमिका निभाई , हम डीपीआई से होते हुए सीएम हाउस जायेंगे, सरकार हमें गिरफ्तार कराना चाहती है तो करवा दे।

आयुक्त से सवाल, हमारे लिए पद नहीं, अतिथि शिक्षकों के लिए विज्ञापन, ये कैसे 

आंदोलन में शामिल महिला अभ्यर्थियों ने कहा कि हम दो दो एक्जाम पास हैं सरकार की जिम्मेदारी है कि हमें नियुक्ति दे, सरकार ने मात्र 8 हजार पद पर भर्ती निकाली है जिसमें से 3 हजार बैकलोग है , इतने में कितने लोगों को सरकार नौकरी देगी ? उन्होंने कहा कि सरकार के पास हजारों पद खाली हैं, अतिथि शिक्षकों के लिए भर्ती विज्ञापन निकाले हैं तो हमें नौकरी क्यों नहीं दे रहे आयुक्त इसका जवाब दें, हम इस बार आर पार की लड़ाई लड़कर रहेंगे और अपना हक लेकर रहेंगे।

 

 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News