सरकार से पीसी शर्मा की मांग, गैर अधिमान्य पत्रकारों को भी कोरोना वॉरियर्स का मिले दर्जा

कांग्रेस (Congress) के पूर्व कैबिनेट मंत्री पी सी शर्मा (PC Sharma) ने सरकार की घोषणा पर सवाल उठाते हुए कहा की गैर अधिमान्य पत्रकारों को भी इस योजना का लाभ मिलना चाहिए।

लव जिहाद

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना (Corona) के इस भयावह दौर में एक ओर जहां पूरी देश की जनता घरों में बंद हो गई है, तो वहीं दूसरी ओर हमारे कोरोना वॉरियर्स (Corona Warriors) सभी की सुरक्षा के लिए खुद आगे आकर लड़ाई लड़ रहे हैं, और उन कोरोना वॉरियर्स में से एक पत्रकार है,  मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में सोमवार को ही सीएम द्वारा अधिमान्य पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स (Front line Workers) का दर्जा दिया गया है । मध्यप्रदेश सरकार (MP Government) ने जनसंपर्क विभाग (Public Relations Department) से अधिमान्य पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स की श्रेणी में शामिल किया है। तो वहीं कांग्रेस (Congress) के पूर्व कैबिनेट मंत्री पी सी शर्मा (PC Sharma) ने सरकार की घोषणा पर सवाल उठाते हुए कहा की गैर अधिमान्य पत्रकारों को भी इस योजना का लाभ मिलना चाहिए।

यह भी पढ़ें…मंत्री विश्वास सारंग ने भोपाल में शुरू की ‘स्वस्थ आहार सेवा’ योजना, मरीजों को मिलेगा निःशुल्क भोजन

पीसी शर्मा ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि हमारे नेता कमलनाथ (Kamal Nath) जी ने पत्रकारों के लिए कोरोना के फ्रंटलाइन वर्कर घोषित करने की मांग की थी लेकिन सरकार ने अधिमान्य पत्रकारों को कोरोना वॉरियर्स माना है कई भारतीय जनता पार्टी के नेता अधिमान्य पत्रकार बने हुए हैं क्या सरकार ने उन्हें इसका लाभ देने के लिए यह घोषणा की है ? बाकी पत्रकार क्या करेंगे, जो फील्ड पर लगातार 24 घंटे काम कर रहे हैं और जनता और सरकार को जानकारी दे रहे है, मेरी सरकार से मांग है कि गैर अधिमान्य पत्रकारों को भी इस योजना का लाभ मिले। बतादें कि इससे पहले भाजपा नेता सुरेंद्र शर्मा (BJP Leader Surendra Sharma) ने मुख्यमंत्री से मांग की थी कि फील्ड में काम कर रहे गैर अधिमान्य पत्रकार और कैमरा मैन को भी कोरोना वारियर्स घोषित किया जाए।