सियासत: सिंधिया के जिम्मे कांग्रेस के बागी विधायक, भोपाल आने को लेकर सस्पेंस

2233

भोपाल।

सोमवार को एमपी विधानसभा में कमलनाथ सरकार(kamalnath government) के शक्ति परीक्षण को लेकर सियासी हलचल जारी है।एक तरफ जहां जयपुर(jaipur) से कांग्रेस(congress) के विधायक(mla) भोपाल(bhopal) पहुंच चुके है और आज शाम विधायक दल की बैठक में भाग लेंगे। वही दूसरी तरफ बीजेपी विधायकों(bjp mla) और कांग्रेस के बागी विधायक अब भी नजरबंद है।अबतक वे भोपाल नही पहुंचे है, इन विधायकों को लेकर सस्पेंस बना हुआ है कि ये भोपाल आएंगे या फिर नही।इसी बीच खबर आ रही है कि बीजेपी ने कांग्रेस के बागी विधायकों की जिम्मेदारी पूर्व मंत्री और भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को सौंपी है।चुंकी ये सभी विधायक सिंधिया(scindia) समर्थक है।

इसी के साथ ये अटकलें भी तेज हो गई है कि अपने समर्थित विधायकों से मिलने के लिए पूर्व मंत्री और भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया भी दिल्ली से भोपाल आ सकते हैं। वही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज और सिंधिया के बैंगलुरु जाकर विधायकों से मुलाकात की भी चर्चाएं है, चुंकी आज सुबह दिल्ली में बीजेपी नेताओं के बीच फ्लोर टेस्ट को लेकर बड़ी बैठक हुई है। इसमें जो रणनीति बनाई गई है उससे शिवराज और सिंधिया विधायकों को अवगत करवा सकते है। इसके बाद वे सिंधिया और शिवराज के साथ भोपाल आ सकते है।चुंकी सुबह ही सभी विधायकों ने वीडियो जारी कर कमलनाथ सरकार से खुद को खतरा बताया है और केन्द्रीय सुरक्षा की मांग की है।वही भाजपा सूत्रों ने बताया कि हरियाणा के गुरुग्राम में ठहरे भाजपा के विधायकों के आज रात या कल सुबह भोपाल लौटने की संभावना है।

दरअसल, बीते रात शनिवार को राज्यपाल ने कमलनाथ सरकार से सोमवार को राज्यपाल के अभिभाषण के बाद शक्ति परीक्षण करने को कहा है। जिसके लिए कांग्रेस के बागी विधायकों का हिस्सा अहम होगा। जहां कांग्रेस सोमवार को बहुमत साबित करने की कोशिश करेगी वहीं बीजेपी ये चाहेगी की किसी भी स्थिति में कमलनाथ सरकार फ्लोर टेस्ट पास ना कर पाए। यही वजह है कि अटकलें लगाई जा रही है कि भाजपा ने सिंधिया को बागी कांग्रेस विधायकों को अपनी तरफ करने की जिम्मेदारी सौंपी है। बताते चलें कि बेंगलुरु के 16 विधायक सिंधिया के साथ है, छह का इस्तीफा विस अध्यक्ष ने स्वीकार कर लिया है। इसी वजह से सिंधिया रविवार रात या सोमवार की सुबह भोपाल आ सकते हैं और बेंगलुरु से लौटे हुए अपने विधायकों से चर्चा कर सकते हैं। माना यह भी जा रहा है कि सिंधिया समर्थक विधायक फ्लोर टेस्ट के दौरान विधानसभा से अनुपस्थित भी रहे। वहीं दूसरी तरफ प्रदेश सरकार ने विधानसभा में शक्ति परीक्षण की तैयारी शुरू कर दी है। जिसके कारण जयपुर भेजे गए कांग्रेस के विधायक भोपाल वापस आ गए हैं। वहीं भाजपा ने भी अपने विधायकों के लिए व्हिप जारी कर दिया है।

भोपाल पहुंचे कांग्रेस विधायक

इधर, सत्तारुढ़ कांग्रेस के जयपुर गए सभी विधायक आज सुबह को विशेष विमान से भोपाल लौट आए हैं। इन्हें विधानसभा से मात्र दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित होटल कोर्टयार्ड मैरियट में कड़ी सुरक्षा में एक साथ रखा गया है। शाम को सभी विधायक मुख्यमंत्री आवास पर विधायक दल की बैठक मेंशामिल होने पहुंचेंगे।

फ्लोर टेस्ट के लिए हम तैयार है-पीसी शर्मा

रविवार को कैबिनेट की बैठक के बाद मंत्री पीसी शर्मा ने कहा है कि कमलनाथ सरकार फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार है और वह बहुमत साबित करेगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि बेंगलुरु में बंधक बने हुए 16 विधायक की रिहाई के लिए हमने गृह मंत्रालय को भी चिट्ठी लिखी है। वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का कहना है कि कमलनाथ सरकार अल्पमत में आई हुई सरकार है। जिसको लेकर भाजपा मंत्रिमंडल ने राज्यपाल से शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए प्रदेश की सरकार को बहुमत साबित करने की मांग की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here