पीसीसी में गूंजे ‘जय श्रीराम’ के नारे, कमलनाथ ने उतारी आरती, कहा- राजीव गांधी ने खुलवाया था ताला

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

अयोध्या में राम मंदिर के बाद पूरे प्रदेश में उत्सव मनाया जा रहा है। लोगों में दीवाली जैसा उल्लास है। भाजपा ने जहां पूरे उत्साह के साथ जश्न मनाया तो वहीं कांग्रेस भी राममय दिखाई दी| पीसीसी दफ्तर में श्रीराम का पोस्टर लगाया, दीप जलाये गए| पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्यद्वार पर भगवान श्री राम की तस्वीर के सामने दीप प्रज्वलित कर दीपोत्सव का शुभारंभ किया। उन्होंने इस अवसर पर आरती कर, भगवान श्रीराम का पूजन किया।

कांग्रेस कार्यालय में दिवाली जैसा नजारा देखने को मिला| कमलनाथ के साथ पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा और विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष एनपी प्रजापति भी मौजूद थे। कमलनाथ ने इस मौके पर कहा कि आज का दिन हर भारतवासी के लिए खुशी का दिन है। राजीव गांधी ने 1989 में कहा था कि राम मंदिर बनना चाहिए, उन्होंने ही राम मंदिर का ताला खुलवाया था। मुझे खुशी होती कि राम मंदिर शिलान्यास के वक्त हर राज्य का प्रतिनिधि होता और सभी जाति धर्म के लोग वहां मौजूद होते। विश्व में ऐसा कोई देश नहीं है, जहां इतनी समरसता है।

कमलनाथ ने कहा, हमारे देश की पहचान विभिन्नता से है, अनेकता में एकता से है। हमारे देश में कितने धर्म है, कितनी भाषाएं हैं, कितनी जातियां है, कितने देवी- देवता हैं, यह विश्व के किसी देश में नहीं है? यदि ऐसा किया जाता तो यह देश का नहीं, विश्व का कार्यक्रम होता। पूरा विश्व देखता कि पूरा भारत एक मत से इसके पीछे खड़ा है।

जय श्रीराम के नारे गूंजे, दिग्विजय नहीं दिखे

पीसीसी में जय श्री राम के नारे लगे, आज से पहले कभी कांग्रेस दफ्तर में ऐसा नजारा देखने को नहीं मिला| इस ऐतिहासिक मौके पर कांग्रेस भी एक सन्देश देना चाहती है कि श्रीराम सबके है और उनकी भी राम में अटूट श्रद्धा है| हालाँकि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के सवाल अब भी सियासी मुद्दा बन रहे हैं| जिसको लेकर भाजपा बार बार कांग्रेस पर हमला बोल रही है| दिग्विजय भी पीसीसी दफ्तर में नजर नहीं आये|

लाइटों से सजा कमलनाथ हाउस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here