मुख्य सचिव मोहंती और दिग्विजय को SC का नोटिस, 6 हफ्तों में मांगा जवाब

SC-notice-to-Chief-Secretary-Mohanty-and-Digvijay

भोपाल।

मध्यप्रदेश के नवनियुक्त मुख्य सचिव एस आर मोहंती की नियुक्ति अब विवादों में घिर गई है। मोहन्ती की नियुक्ति को लेकर एक शख्स ने सवाल उठाए है और सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार और मुख्य सचिव को नोटिस जारी कर छह हफ्तों में स्पष्टीकरण मांगा है।वही इस मामले में वरिष्ठ नेता दिग्विजय की भी संलिप्पता बताई गई है और नोटिस जारी किया गया है। बता दे कि मोहंती ने 31  दिसंबर को मुख्यसचिव का पदभार संभाला है।उन्होंने बीपी सिंह की जगह ली जो 31 दिसंबर को रिटायर हुए थे। 

दरअसल, मध्य प्रदेश के मुख्य सचिव एस आर मोहंती की नियुक्ति को एक शख़्स ने चुनौती दी है। सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में उन्होंने कहा है कि एस आर मोहंती के ख़िलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज है। याचिका में आरोप लगाया गया है कि राज्य औद्योगिक विकास निगम से संबंधित भ्रष्टाचार के मामले में वह भी कथित रूप से संलिप्त थे। वर्तमान कांग्रेस सरकार ने सत्तारुढ़ होते ही इस घोटाले की जांच अवैध तरीके से बंद कर दी।इतना ही नहीं मोहंती के खिलाफ घोटाले के आरोप पर जारी विभागीय जांच भी बंद कर दी गई। इस घोटाले में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के भी तार जुड़े होने की आशंका है। यह भी कहा गया कि मोहंती को मुख्य सचिव नियुक्त किए जाते समय किसी तरह की अपेक्षित विभागीय या निष्पक्ष जांच नहीं की गई।बावजूद इसके उन्हें मुख्य सचिव बनाया गया है।  

सुप्रीम कोर्ट ने इस पर सुनवाई करते हुए मध्य प्रदेश सरकार को नोटिस जारी किया है।इस पूरे मामले पर सुनवाई करते हुये सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने याचिकाकर्ता मनोहर दलाल की याचिका पर राज्य सरकार को नोटिस जारी किया। राज्य को छह सप्ताह के भीतर नोटिस का जवाब देना है।याचिकाकर्ता का पक्ष रखते हुए वरिष्ठ अधिवक्ता मनिंदर सिंह व विवेक दलाल ने कहा कि घोटाले की सीबीआई से जांच कराई जाए। मोहंती के खिलाफ विभागीय जांच रिटायर्ड जज से कराई जाए। प्रारंभिक सुनवाई के बाद कोर्ट ने याचिका में बनाए गए अनावेदकों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए

कौन है एसआर मोहन्ती

एस आर मोहंती 31 दिसंबर को ही मध्य प्रदेश के मुख्य सचिव बनाए गए हैं। वो 1982 बैच के आईएएस अफसर हैं। असिस्टेंट कलेक्टर सरगुजा में 1983 से प्रशासनिक सेवा की शुरूआत करने वाले एसआर मोहंती कई महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। मोहंती की पहचान एक सख्त और अनुशासित अधिकारी की रही है। वह बालाघाट, सतना और इंदौर के कलेक्टर रहने के बाद जनसंपर्क आयुक्त, मार्कफेड एमडी, महिला बाल विकास, चिकित्सा शिक्षा, वित्त निगम, स्वास्थ्य, योजना आयोग, स्कूल शिक्षा सहित अन्य विभागों में प्रमुख सचिव रहे हैं।  शिवराज सरकार के दौरान मोहंती लूप लाइन में थे। सरकार बदलते ही इस पद के लिए उनका नाम सबसे पहले आया और वो रेस में सबसे आगे रहे। इससे पहले वो माध्यमिक शिक्षा मंडल के अध्यक्ष थे। मोहंती आईआईएम अहमदाबाद से पास आउट हैं। वो रिन्यूवल एनर्जी के प्रमुख सचिव भी रह चुके हैं।मोहंती को सीएम कमलनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का करीबी माना जाता है।