Bhopal में नहीं थम रही चोरी की वारदातें, बीती रात चार पहिया वाहन चुराकर फरार हुए चोर, लोगों में भय का माहौल

चोरों को पकड़ने के लिए पुलिस द्वारा घर-घर, दुकानों को जोड़ने के लिए एक ऐप तैयार किया था, जिसमें सीसीटीवी फुटेज के जरिऐ चोरों को पकड़ने में सफलता मिल सकेगी, लेकिन इस मुहिम का कोई पता नहीं है।

Bhopal

Bhopal News: राजधानी भोपाल के व्यापारिक नगर बैरागढ़ में लूट, डकैती और चोरियां नहीं थम रही है। यही हाल खजूरी, परवलिया, कोहेफिजा थाना अर्न्तगत भी बना हुआ है। दिन में रेकी कर चोर अपना निशाना रात में या तो घरों को कर रहे है या फिर घरों के बाहर खड़ी दो पहिया और चार पहिया वाहनों को बना रहे है। ताजा मामला खजूरी थाना अर्न्तगत चार पहिया वाहनों के चोरी होने का है।

 घर के बाहर खड़ी कार को बनाया निशाना

मिली जानकारी के अनुसार खजूरी थाना अर्न्तगत रहने वाले बैरागढ़ कला की महाकाल कॉलोनी में रहने वाले मनोज अडवानी का है। अडवानी की 2021 मॉडल की ईको नई कार जिसका नम्बर MP 04 CZ 5438 घर के बाहर खड़ी की थी। मनोज आडवानी ने बताया कि रोज की तरह यह कार बाहर खड़ी होती थी, लेकिन शनिवार और रविवार रात चोरों ने इस कार को अपना निशाना बनाकर उस पर हाथ साफ कर दिया। उन्होंने इसकी सूचना खजूरी थाने में की है।

चोरों ने पुलिस की नाक में दम कर रखा

वहीं, इसी थाना के अर्न्तगत कुछ दिन पहले ही एक अन्य वाहन पर चोरों ने हाथ साफ कर दिया था। सूत्रों के मुताबिक रात में गश्त पर खुद थाना प्रभारी भी निकले थे। इसके साथ ही कोई बड़ा गिरोह सक्रिय है, जो चोरी की घटनाओं को अंजाम देकर पुलिस की नाक में दम कर रहा है।

चोरियों का नहीं लगा सुराग

बैरागढ़ में विगत दिनों ही टी वार्ड के तीन मकानों को चोरों ने अपना निशाना बनाया था, जिसका कोई सुराग अभी तक नहीं लग सका है। पुलिस के आला अधिकारियों का कहना है कि चोरों की तलाश की जा रही है। कोहेफिजा थाना अंतर्गत विजय नगर के रहने वाले लच्छवानी परिवार के घर को चोरों ने एक बार नहीं दो बार अपना निशाना बनाया, जिसका सुराग अभी तक नहीं लग सका है। इसी दिन खजूरी में भी चोरी हुई थी।

कहां है सीसीटीवी मुहिम

चोरों को पकड़ने के लिए पुलिस द्वारा घर-घर, दुकानों को जोड़ने के लिए एक ऐप तैयार किया था, जिसमें सीसीटीवी फुटेज के जरिऐ चोरों को पकड़ने में सफलता मिल सकेगी, लेकिन यह मुहिम ठंडे बस्ते में बंद पड़ी हुई है।

लोगों में भय का माहौल

आए दिन हो रही चोरी की घटनाओं से लोगों में डर बैठता जा रहा है। इधर पुलिस की रात्रि गश्त पर सवाल खड़े हो रहे है। लोगों का कहना है कि देर रात में होटल, ढाबे और पान सिगरेट की दुकानें खुली रहती है। यहां के व्यापारी पूरी रात व्यापार करते है और चोर इन दुकानों पर अक्सर खरीदारी करते रहते है। उनका कहना है कि देर रात तक जो दुकाने खुली रहती है, गली मोहल्लों में उन्हें बंद करना अति आवश्यक है। भोपाल कलेक्टर द्वारा बनाए गए दुकानों और होटलों के नियमों का पालन नहीं होना भी चोरियां और अपराधिक घटनाओं के बीच एक बड़ा कारण है।

भोपाल से रवि कुमार की रिपोर्ट


About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है–खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालोमैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।