जब रक्षक ही बन बैठे भक्षक, सूदखोर हेडकांस्टेबल पर मामला दर्ज

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। जिनकें जिम्मे सुरक्षा की जिम्मेदारी वही भक्षक बन बैठे, दरअसल मामला ही कुछ ऐसा है, राजधानी में बजरिया पुलिस ने सूदखोरी करने वाले जीआरपी के हेड कांस्टेबल समेत करीब आधा दर्जन लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की है। आरोपितों ने रेलवे कर्मचारी को जितनी रकम ब्याज पर दी थी, उससे ज्यादा वे वसूल चुके थे। इसके बावजूद वह रेलकर्मी से और पैसों की डिमांड कर रहे थे। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। सूदखोरों की प्रताड़ना के मामले लगातार सामने आ रहे है, जबकि भोपाल के पिपलानी इलाके में 25 नवंबर को आटो पार्टस व्यापारी संजीव जोशी के परिवार के पांच सदस्यों के खुदकुशी के बाद भी इन सूदखोरों का दुस्साहस कम नहीं हो रहा है।

यह भी पढ़े.. सरकारी मुलाजिमों को कलेक्टर की ताकीद, एक भी टीका चूका तो फांसी टांग दूंगा

द्वारिका नगर के रहने वाले योगेंद्र मौर्य रेलवे में क्लर्क है। उन्होंने जीआरपी में पदस्थ हवलदार केदार शिवहरे से करीब सवा लाख रुपए दस प्रतिशत ब्याज पर लिए थे। योगेंद्र का कहना है कि वह पूरी रकम चुकता कर चुके हैं। इसके बावजूद लगातार उस पर पैसे देने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। इसके अलावा विक्रम कुशवाहा, राजा कुचबंदिया, कमल उर्फ गुड्डू और कल्लू कुचबंदिया से भी करीब ढाई लाख रुपए ब्याज लिए थे। ये लोग भी रेलकर्मी पर अधिक पैसे का दबाव बना रहे थे। उसकी करतूतों से परेशान होकर रेलवेकर्मी ने थाना पुलिस को लिखित में आरोपियों के खिलाफ शिकायत कर दी। जांच के बाद पुलिस ने आरोपियों पर मामला दर्ज किया। ब्याज देने वाले आरोपित और फरियादी पहले से आपस में परिचित हैं। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

यह भी पढ़े.. समर्थन मूल्य पर तुलने के लिये आई UP की धान जब्त, SDM ने की कार्रवाई

क्राइम ब्रांच पुलिस के अनुसार रेखा पानपाटिल पति कैलाश पानपाटिल अभिनव कैम्प्स, खजूरीकला में रहती हैं। उन्होंने 15 अक्टूबर 2020 को रमेश चांदवानी से ब्याज पर रकम उधार ली थी और गारंटी के तौर पर चेक दिया था। उससे ज्यादा रकम वह उनको दे चुकी हैं। इसके बावजूद भी रमेश उन पर लगातार पैसे देने का दबाव बना रहा था। साथ ही घर में आकर उनका हाथ पकड़कर छेड़छाड़ कर रहा था। इतना ही नहीं, तीन अन्य महिलाओं ने भी रमेश से ब्याज पर पैसे लिए थे। वह उन पर भी बुरी नजर रखता था। ये सिर्फ महिलाओं को ही दस प्रतिशत ब्याज पर पैसा देता है और चैक बाउंस कराने की धमकी देकर उनसे वसूली करता है। इससे परेशान महिलाओं ने रमेश चांदवानी की शिकायत की है, जिसके बाद पुलिस ने रमेश चांदवानी के खिलाफ मामला दर्ज किया है।