CM हाउस के नाम से फर्जी कॉल करने वाला युवक गिरफ्तार, IAS बनकर TI को किया था कॉल

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  भोपाल के एम पी नगर थाने के टीआई को सीएम हाउस से आईएएस अधिकारी ने फोन कर पकड़े आवारा लड़के छोड़ने का आदेश दिया, इस तरह के आदेश से टीआई भी चौंक गए लेकिन जब उन्होंने इसकी पड़ताल की तो मामला उल्टा ही निकला, दरअसल मामला कुछ यू है, जब 26 मार्च की रात एमपी नगर जोन-2 में एक रेस्टोरेंट के पास दो युवक खड़े हुए थे। टीआई सुधीर अरजरिया गश्त के दौरान वहाँ से निकले उन्होंने जब युवकों को खड़े देखा तो उनसे पूछताछ की, युवक वहाँ खड़े होने की कोई वजह नहीं बता पाए, जिसके बाद दोनों को पुलिस थाने लाया गया। कुछ देर बाद ही एक अन्य युवक पकड़े गए दोनों युवकों की पैरवी करते हुए थाने पहुंचा जिसे तुरंत थाने पुलिस ने चलता कर दिया। दोनों युवकों की पहचान देशराज शर्मा और अंश सोमनाथन के रूप में हुई है। वे वहां खाना खाने गए थे। पूछताछ के बाद दोनों को जाने दिया।

यह भी पढ़ें… पपीते का पत्ता होता है गुणों से भरपूर, इसके फायदे जानकर आप हो जाएंगे हैरान 

युवकों के जाने के बाद  एक अनजान नंबर से टीआई सुधीर अरजरिया को फोन आया, फोन करने वाले ने कहा कि- मैं सीएम हाउस से नीरज वशिष्ठ बोल रहा हूं। इसके बाद टीआई सुधीर अरजरिया को शक हुआ कि यह आवाज आईएएस अधिकारी नीरज की नहीं है, उन्होंने पड़ताल की तो खुलासा हुआ कि फोन नंबर 26 साल के लक्की कुशवाह के नाम से था, इस नंबर की सिम लक्की ने 17 मार्च को ही ली थी।

यह भी पढ़ें…. नहीं होगी ईलाज में कोई रुकावट! इस साल इन सरकारी हेल्थ इन्श्योरेन्स का करें इस्तेमाल

इसी आधार पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। युवक ने एमपी नगर थाने के टीआई के फोन कर कहा- मैं CM हाउस से नीरज वशिष्ठ बोल रहा हूं। मेरे लड़कों को छोड़ दो। टीआई सुधीर ने जब फोन करने वाले शख्स से पूछा की आप अभी कहाँ है, तो फोन करने वाले ने कहा की मैं पचमढ़ी में हूं। कैबिनेट की बैठक चल रही है।

इस मामलें के बाद पुलिस ने इस फर्जी कॉल पर पड़ताल शुरू की तो पुलिस ने नंबर पता किया जिसके बाद ट्रेस नंबर से  रविवार रात आरोपी को गिरफ्तार किया गया। पकड़े जाने पर वह गिड़गिड़ाते हुए बोला कि दोनों लड़कों को जानता ही नहीं हूं। लक्की ने पकड़े जाने के बाद बताया कि वह देशराज और अंश को नहीं जानता है। उसके लिए उसके परिचित ने फोन किया था। उसने उसके कहने पर ही पदाधिकारी बनकर मुख्यमंत्री निवास के नाम पर कॉल किया था।