पपीते का पत्ता होता है गुणों से भरपूर, इसके फायदे जानकर आप हो जाएंगे हैरान 

पपीते के पत्ते (Papaya leaves में भी कई ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो इंसानी शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होते हैं।

Fruit Healthy Papaya Tree Food Green Nature

जीवनशैली, डेस्क रिपोर्ट। पपीता (Papaya) ऐसा फल है जो आमतौर पर हर घर में मिल जाता है। पपीता सिर्फ फल ही नहीं बल्कि सब्जी के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है, इससे कई पकवान ही बनाए जाते हैं। इसके फल, बीज और पत्तियों को भी आयुर्वेद जगत में बहुत ज्यादा प्रयोग में लाया जाता है। पपीते के पत्ते (Papaya leaves में भी कई ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो इंसानी शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होते हैं। क्या आपको पता है कि पपीते के पत्ते से कई दवाइयां बनाई जाती है, इससे बनी ना सिर्फ दवाइयां बल्कि चाय भी बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है, जो कई बीमारियों से निजात दिला सकता है।

यह भी पढ़े… MP News: सीएम शिवराज करेंगे प्रदेश के सबसे ऊंचे ब्रिज का लोकार्पण, ट्रेफिक जाम समस्या का होगा समाधान

पपीता का पत्ता डेंगू के समय भी काफी ज्यादा लाभकारी साबित हो सकता है। डेंगू के दौरान शरीर में प्लेटलेट्स कम हो जाते हैं जिससे ठीक करने का काम पपीते का पत्ता कर सकता है। पपीते के पत्ते का इस्तेमाल शुगर पेशेंट या डायबिटीज पेशेंट भी कर सकते हैं, पपीता ब्लड शुगर लेवल को संतुलित करने का काम करता है। इसमें कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जो ब्लड में शुगर के लेवल को कम करने का काम करता है।

पपीते के पत्ते से बना चाय का इस्तेमाल पाचन क्रिया को ठीक करने के लिए भी किया जाता है, इसके सेवन से गैस, पेट में जलन और कब्ज से निजात मिलता है। पपीते के पत्ते का इस्तेमाल करने से शरीर में हुई सूजन भी कम हो जाती है, हालांकि इस बात की पुष्टि अब तक नहीं हो पाई है।

बालों के लिए भी होता है फायदेमंद

पपीता का पत्ता डैंड्रफ को खत्म करने के लिए भी सक्षम माना जाता है, इसमें ऐसे कई गुण होते हैं जो बालों के ग्रोथ में बहुत ही ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकता है। पपीते के पत्ते के सेवन से चेहरा जवान, खिला-खिला और सुंदर होता है पपीते के पत्ते में कई ऐसे enzymes, प्रोटीन और मिनरल्स पाए जाते हैं, जो चेहरे से दाग-धब्बे, बालों, पिंपल्स और छेद को कम करने का काम करता है। एक अध्ययन के मुताबिक पपीते के पत्ते में कई ऐसे गुण पाए जाते हैं, जिससे कैंसर का रिस्क भी कम हो जाता है और कैंसर सेल का खात्मा भी कर सकता है।

Discliamer: यह खबर सिर्फ शिक्षित करने के लिए है, कृपया कोई भी कदम उठाने से पहले विशेषज्ञों की सलाह जरूर लें।