डीआईजी की कार को ठोकने वाला निकला कुख्यात अपराधी, कई मामले हैं दर्ज

youth-rammed-his-xuv-into-dig-car

भोपाल। एसयूवी कार से डीआईजी अनिल महेशवरी की कार को ठोकने वाला छात्र कुख्यात गुंडा है। उसके खिलाफ इटारसी में मारपीट अड़ीबाजी, हत्या के प्रयास, फिरौती के लिए अपहरण जैसे संगीन अपराध दर्ज हैं। वहीं बैतूल में आरोपी पिस्टल सहित धरा जा चुका है। हबीबगंज पुलिस ने उसके खिलाफ एक्सीडेंट के दो अलग-अलग मुकदमे, अड़ीबाजी मारपीट का एक मुकदमा तथा पुलिस की ओर से शासकीय कार्य में बांधा पहुंचाने का प्रकरण दर्ज किया है। उसके साथ पकड़ी गई लड़कियों को बीती रात तजदीक के बाद में छोड़ दिया गया है। 

टीआई एसपी सक्सेना के अनुसार अड़ीबाजी की शिकायत जैकी तिवारी की ओर से दर्ज कराई गई है। आरोपी उसे छेडख़ानी के झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर एक लाख रूपए की मांग कर रहा था। बाद में उसके साथ में मारपीट कर बेस बॉल के डंडे से सिर फोड़ दिया। आरोपी निखिल राजवंशी ने खुदको बचाने की नियत से पुलिस को बताया था कि जैकी व साथी उसकी महिला मित्रों को कमेंट्स कर रहे थे। जिसके बाद में विवाद हुआ और मारपीट कर जैकी का सिर फोड़ दिय गया। टीआई का कहना है कि निखिल लड़कियों पर कमेंट्स की बात कर रहा है। लड़कियों ने पूछताछ में ऐसी कोई बात नहीं बताई है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। आज उसे न्यायालय में पेश कर कोर्ट के ओदश पर जेल भेजा जा सकता है।


यह था मामला

जानकारी के अनुसार निखिल राजवंशी(25)वार्ड नंबर 23 इटारसी जिला होशंगाबाद का रहने वाला है। उसके पिता इटारसी के बड़े काश्तकार (किसान) हैं। निखिल बीते कुछ महीनों से भोपाल में रह रहा है। यहां वह एमपी नगर स्थित एक कोचिंग सस्थान से एसएससी और एसआई परीक्षा की तैयारी कर रहा है। उसके पिता ने करीब दो महीने पहले एक्सयूवी कार दिलाई है। जिससे निखिल गर्लफ्रेंड व उसकी एक दोस्त को शुक्रवार शाम सात बजे चाय पिलाने के लिए बिट्ठल मार्केट ले गया था। वहां मार्केट में स्थित शॉप पर आरोपी ने कार को पार्क किया। दुकान पर पहले से चार लड़के मौजूद थे। निखिल ने पुलिस को बताया कि  लड़के उसकी गर्लफ्रेंड व दूसरी महिला मित्र को देखकर कमेंट्स कर रहे थे। लगातार दोनों लड़कियों को घूर रहे थे। उसने घूरने की वजह पूछी तो चारों ने विवाद शुरू कर दिया। जिसके बाद में निखिल ने कार में रखा बेस बॉल का बेट निकालकर जैकी नाम के लड़के सिर में दे मारा। जिससे वह लहूलुहान हो गया। मौके पर मौजूद लोगों का दावा है कि निखिल ने इस दौरान लड़कों को चमकाने के लिए पिस्टल भी लहराई थी। वहीं घटना की जानकारी मिलते ही डीआईजी इरशाद वली भी थाना हबीबगंज पहुंच गए थे।

– घेराबंदी देख बौकखलाया निखिल

इस दौरान किसी ने मामले की जानकारी पुलिस को दे दी थी। टीआई एसपी सक्सेना इलाके में भ्रमण पर थे। सूचना के बाद में उन्होंने कार की घेराबंदी कराई। फिल्मी स्टाइल में पुलिस वाहन को वंदे मातरम चौराहा पर निखिल की कार के सामने लगा लिया। जिसके बाद में भागने के प्रयास मेें निखिल ने कार को बैक किया और दोबारा भागने लगा। डीआईजी छतरपुर अनिल महेशवरी की प्रायवेट कार को ठोक दिया। आगे उसने दो अन्य कारों में भी टक्कर मारी और रोड डिवाइडर से टकरा गया। जिससे उसकी गाड़ी बुरी तहर से छतिग्रस्त हो गई। बाद में आरोपी और दोनों महिला मित्र कार से निकलने का प्रयास कर रहे थे। तभी मौके पर मौजूद लोगों ने उन्हें दबोच लिया। पुलिस ने डीआईजी अनिल महेशवरी,प्रवीण सक्सेना व एक अन्य की शिकायत पर आरोपी के  िालाफ एक्सीडेंट का मुक दमा दर्ज किया है। जबकि जैकी की शिकायत पर मारपीट का मामला दर्ज किया है। निखिल की गिर तारी कर ली गई है। उसकी दोनों महिला मित्र भी देर रात तक पुलिस हिरासत में थीं।