BJP नेता मुरलीधर राव के विवादित बयान पर ब्राह्मण और वैश्य संगठनों ने पुतला जलाकर किया विरोध

दरअसल दो दिन पहले बीजेपी के प्रदेश प्रभारी का एक बयान सामने आया था। इस बयान में ब्राह्मण और बनियों को लेकर मुरलीधर राव ने तल्ख टिप्पणी की थी जिसे लेकर न सिर्फ कांग्रेस विरोध कर रही बल्कि इंदौर में ब्राह्मण और वैश्य संगठन विरोध पर उतर आए हैं।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। बीजेपी (BJP) के राष्ट्रीय महासचिव और मध्यप्रदेश बीजेपी के प्रदेश के प्रभारी के हालिया विवादित बयान को लेकर अब ब्राह्मण और वैश्य संगठनों का रोष खुलकर सामने आ रहा है। बुधवार को इंदौर के बड़ा गणपति चौराहे पर संगठन के प्रबुद्धजनों ने बीजेपी के बड़े नेता मुरलीधर राव (BJP leader Murlidhar Rao) का पुतला फूंककर बीजेपी के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर विरोध जताया।

ये भी पढ़ें- Bhopal Hospital Fire: सीएम शिवराज ने बुलाई बैठक, लापरवाहों पर गिर सकती है गाज

दरअसल दो दिन पहले एक संवाददाता सम्मेलन में कथित तौर पर बीजेपी के प्रदेश प्रभारी का एक बयान सामने आया था। इस बयान में ब्राह्मण और बनियों को लेकर मुरलीधर राव ने तल्ख टिप्पणी की थी जिसे लेकर न सिर्फ कांग्रेस विरोध कर रही बल्कि इंदौर में ब्राह्मण और वैश्य संगठन विरोध पर आमद हैं। बुधवार को विरोध स्वरूप इंदौर के बड़ा गणपति चौराहा पर सर्व ब्राह्मण राष्ट्रीय महासभा और वैश्य महासम्मेलन मुरलीधर राव का पुतला फूंका गया। इस दौरान बीजेपी नेता और बीजेपी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई।

वहीं सर्वब्राह्मण राष्ट्रीय महासभा के संयोजक घनश्याम जोशी ने कहा कि- बीजेपी नेता ये न भूलें जिनको वो जेब में रखने की बात बोल रहे हैं उन्ही ने बीजेपी की बागडोर संभाली थी। वहीं उन्होंने बयान को लेकर कहा कि आगे बीजेपी की मुश्किलें बढ़ेगी।

ये भी पढ़ें- मप्र पंचायत चुनावों को लेकर निर्देश जारी, 12 नवम्बर को वीसी, तारीखों का ऐलान जल्द!

इधर, वैश्य महासम्मेलन के उपाध्यक्ष मधुसूदन भलिका ने बताया कि राव का बयान निंदनीय है और बीजेपी को ये समझना चाहिये दोनों ही वर्गों ने मिलकर बीजेपी की सरकार बनाई है। वहीं एडवोकेट विनोद द्वेदी ने कहा राजनीतिक दल के बड़बोले नेता ब्राह्मणों को और अन्य वर्गों के लोगों को अपनी जेब में समझ रहे है और आज स्थिति ये है कि कई राज्यों में ब्राह्मणों का शोषण हो रहा है। वहीं उन्होंने कहा जब विरोध बढेगा बीजेपी मरहम लगा कि ये राव का व्यक्तिगत विचार न कि पार्टी का जो कि गलत है।

फिलहाल, जिस तरह से मुरलीधर राव के बयान का विरोध हो रहा है उससे ये तो साफ है की अलग-अलग वर्गों में खासा रोष है। ऐसे में कांग्रेस इस मुद्दे पर आने वाले समय मे योजना के साथ सत्तासीन बीजेपी पर राजनीतिक वार करेगी।