जिम्मेदारों की लापरवाही पर जमकर बरसे विधायक, अपने हाथों से गिराया गुणवत्ताहीन पिलर

दरअसल बसपा विधायक संजीव सिंह कुशवाह निरीक्षण के लिये नवनिर्मित ओपन जिम पहुंचे थे। वहां पर लगाए गए खंबे इतने गुणवत्ता हीन थे कि विधायक ने खुद ही उन खंभों को अपने हाथों से गिरा दिया।

भिण्ड, गणेश भारद्वाज। मध्यप्रदेश के भिंड में निर्माण कार्यों की गुणवत्ता हीन होने का एक नया मामला सामने आया है। दरअसल आज सुबह जब बसपा विधायक संजीव सिंह कुशवाह निरीक्षण करने के लिए शहर के गौरी किनारे नवनिर्मित ओपन जिम देखने पहुंचे तो वहां पर लगाए गए खंबे इतने गुणवत्ता हीन थे कि विधायक ने खुद ही उन खंभों को अपने हाथों से गिरा दिया। खंबे इतने गुणवत्ता हीन थे कि विधायक ने इंजीनियर पर गुस्सा बरसा दिया और जमकर लताड़ लगा दी। उन्होंने कहा कि चाहे मेरा ही आदमी या कार्यकर्ता ही क्यों ना हो लेकिन गुणवत्ता के साथ कोई भी समझौता नहीं किया जाना चाहिए।

जिम्मेदारों की लापरवाही पर जमकर बरसे विधायक, अपने हाथों से गिराया गुणवत्ताहीन पिलर

ये भी पढ़ें- MP Weather: मप्र के 7 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बिजली गिरने के भी आसार

मध्यप्रदेश में इन दिनों भाजपा की सरकार है और बसपा के केवल दो ही विधायक हैं। और ये दोनों विधायक आजकल ये भाजपा की ही लय में लय मिलाते देखे जा सकते हैं। यह भाजपा की सिंधिया की बैसाखियों के ऊपर चलने वाली सरकार को अपना समर्थन भी दिए हुए हैं। लेकिन आज जब सुबह विधायक कुशवाह जी निकले तो वे गुणवत्ता हीन निर्माण कार्यों को देख कर तमतमा उठे और दो दिन पहले ही भिण्ड आये इंजीनियर साहब विकास महतो को फटकार लगा दी।

ये भी पढ़ें- पंजाब में फिर सियासी बवाल, कांग्रेस विधायक दल की बुलाई बैठक, क्या इस्तीफा देंगे सीएम?

भिंड नगर पालिका क्षेत्र और जिले में गुणवत्ता हीन घटिया निर्माण कार्यों की बात करें तो इन दिनों जमकर ठेकेदारों के द्वारा गुणवत्ता हीन और घटिया निर्माण कार्य करवाए जा रहे हैं। इनकी देखरेख करने वाले इंजीनियर भी इन ठेकेदारों ही मिले हुए होते हैं और बड़े कमीशन के चलते यह हर काम को पास भी कर देते हैं। यदि काम की अवधि 5 साल होती है तो यह काम स्वत ही 3 से 4 साल में टूट कर बिखर जाते हैं और 1 साल शिकवा शिकायत में लगने के बाद 5 साल का टाइम पूरा कर ठेकेदार इन कामों से इतिश्री कर लेता है। भिंड की नवनिर्मित सड़कों की बात करें तो यह सभी सड़कें ऐसे ही ठेकेदारों की गुणवत्ता हीन कार्यों के बदौलत बिल्कुल पूरी तरह से बिखर और टूट चुकी है। जिनको लेकर आए दिन भिंड के नगरवासी हाय तौबा मचाते रहते हैं और अधिकारियों से शिकायत करते हैं लेकिन अधिकारी इन ठेकेदारों से कुछ भी नहीं कह पाते हैं क्योंकि इनको कहीं ना कहीं सफेदपोश नेताओं का संरक्षण मिलता है।