सेंट्रल हाउसिंग कंपनी के मैनेजर का कारनामा, रिश्वत नहीं दी तो करवा दिया लोन कैंसल, मामला दर्ज

मामले पर फरियादी ने घर बनवाने के लिये हाउसिंग कंपनी से लोन के संबंध में संपर्क किया था। पीडि़त का कहना है की कंपनी मैनेजर ने इस दौरान उससे लोन के चलते रिश्वत की मांग की है।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर में एक हाउसिंग कंपनी के मैनेजर द्वारा होम लोन के नाम पर व्यक्ति से रिश्वत लेने की खबर सामने आई है। मामले में हाउसिंग लोन कंपनी का मैनेजर ने होम लोन आसानी से दिलवाने का आशवासन देते हुए एक व्यक्ति से पहले तो हजारों रुपये ऐंठ लिए और फिर लोन के अंतिम पड़ाव में पुनः रिश्वत की मांग की। वहीं जब फरियादी व्यक्ति ने रिश्वत के रुपये देने से इंकार कर दिया तो मैनेजर प्रशांत सोनी ने लोन केंसल करवा दिया। इसकी शिकायत पीड़ित ने मदनमहल थाना पुलिस में की है।

ये भी देखें- Covaxin, Covishield वैक्सीन को लेकर आई बड़ी खबर, DCGI ने दी इस बात की मंजूरी

जानकारी के अनुसार गोटेगांव निवासी प्रभुदयाल शर्मा ने मदनमहल थाना पुलिस को शिकायत में बताया कि उसे घर बनाने के लिए लोन चाहिए था जिसके चलते उसने 20 दिसंबर 2020 में सेंट्रल हाउसिंग कंपनी मानस भवन में संपर्क किया। कंपनी के मैनेजर प्रशांत ने उसे लोन दिलवाने के लिए प्रोसेसिंग फीस के नाम पर 12 लाख रुपये का लोन स्वीकृत हुआ। लोन जैसे ही अंतिम पड़ाव में पहुँच गया जिसके बाद मैनेजर प्रशांत सोनी ने पीड़ित प्रभु दयाल शर्मा से 2 लाख रुपये की रिश्वत की मांग की और जब प्रभु दयाल ने रिश्वत देने से मना कर दिया तो कंपनी के मैनेजर प्रशांत सोनी ने प्रोसेसिंग फीस के अलावा अन्य रुपए हड़प लिए और उनका लोन रद्द करा दिया। फइलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।