Amarwada Bye Election: सीएम डॉ मोहन यादव और वीडी शर्मा ने भरवाया BJP प्रत्याशी कमलेश शाह का नामांकन फॉर्म, दी जीत की अग्रिम बधाई

Atul Saxena
Published on -
Kamlesh Shah nomination

Amarwada Bye Election: अमरवाड़ा उप चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने पार्टी उम्मीदवार कमलेश शाह का आज नामांकन फॉर्म दाखिल करवाया, भाजपा प्रत्याशी के साथ मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा भी मौजूद थे, नामांकन फॉर्म भरने के बाद सीएम डॉ यादव ने कमलेश शाह को जीत की अग्रिम बढ़ी और शुभकामनायें दी, उधर कांग्रेस को अपने प्रत्याशी के नाम का इन्तजार है।

कमलेश शाह को घोषित किया है BJP ने अपना प्रत्याशी 

आपको बता दें कि कमलेश शाह के इस्तीफे के कारण ही छिंदवाड़ा की अमरवाड़ा सीट रिक्त घोषित हुई थी जिसकारण यहाँ उप चुनाव हो रहा है, कमलेश शाह विधानसभा चुनाव 2023 में कांग्रेस के टिकट पर अमरवाड़ा से चुनाव लड़े थे और जीते थे, लेकिन लोकसभा चुनाव में उन्होंने भाजपा ज्वाइन कर ली और विधायक पद से इस्तीफा दे दिया।

सीएम ने कमलेश शाह को दी जीत की अग्रिम बधाई  

मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट X पर कमलेश शाह का फोटो पोस्ट करते हुए लिखा- अमरवाड़ा तैयार है, कमल खिलाने को,  आज अमरवाड़ा विधानसभा क्षेत्र से उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी  कमलेश शाह ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। साथी कमलेश जी को जीत की अग्रिम बधाई और शुभकामनाएं! इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष व सांसद वीडी शर्मा,  छिंदवाड़ा सांसद बंटी साहू भी मौजूद रहे

कांग्रेस को प्रत्याशी का इंतजार, पांच नामों का पैनल केंद्रीय चुनाव समिति को भेजा  

भाजपा ने आज अपने प्रत्याशी का नामांकन फॉर्म भर दिया लेकिन कांग्रेस को अभी उम्मीदवार का इंतजार है, जानकारी  के मुताबिक प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पांच उम्मीदवारों के नाम का एक पैनल बनाकर केंद्रीय चुनाव समिति को भेजा है, अब केंद्रीय चुनाव समिति अंतिम फैसला लेगी, उम्मीद है कि जल्दी ही नाम की घोषणा हो जाएगी, बताया जा रहा है कि पैनल में जिला पंचायत सदस्य नवीन मरकाम, रिटायर्ड डीएसपी रामनारायण परतेती, अमरवाड़ा कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष चंपालाल कुर्चे, सुखराम दास और देवी राम भलावी के नाम शामिल हैं।

 

 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News