छिंदवाड़ा : किसान ने की आत्महत्या, आरोप- बैंक ऋण चुकाने को लेकर मिली प्रताड़ना ने ली जान

छिंदवाड़ा, डेस्क रिपोर्ट। छिंदवाड़ा जिले में एक किसान ने जान दे दी, बताया जा रहा है कि बारिश से चौपट हो चुकी फसल के कारण किसान ने यह जानलेवा कदम उठाया, किसान पहले से ही आर्थिक तंगी से जूझ रहा था, वही परिजनों का आरोप है कि किसान को बैंक का ऋण चुकाने के लिए इस कदर प्रताड़ित किया गया कि उसने सल्फास खाकर सुसाइड कर लिया। मोहखेड़ ब्लाक के ग्राम राजेगांव में रहने वाले किसान रामदत्त पिता गणेश दत्त चौधरी ने अपने घर में रखी सल्फास की गोली खा ली।

यह भी पढ़ें…डकैत गुड्‌डा गुर्जर के दो आश्रयदाताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बता दें कि घटना के बाद परिजनों ने डायल 100 को इसकी सूचना दी, जिसके बाद टीआई गोपाल घासले भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने किसान को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया। जहां इलाज के दौरान किसान की मौत हो गई। रामदत्त के बेटे ने दुर्गेश के मुताबिक, उसके पिता पर एसबीआई क्रेडिट कार्ड का 2.50 रुपये का कर्ज था। 27 अक्टूबर को बैंक की टीम उनके घर आई थी, जिन्होंने कर्ज जमा करने के लिए दबाव बनाया था। ऐसे में उन पर कार्रवाई करने की भी बात कही गई थी, जिससे वे डिप्रेशन में थे। दुर्गेश चौधरी के मुताबिक बारिश में उनकी मक्का और सोयाबीन की फसल चौपट हो गई थी। ऐसे में कर्ज चुकाने के लिए उनके पास पैसे तक नहीं थे। वह कहां से कर्ज चुकाते, जिसको लेकर उसके पिता काफी परेशान थे। वहीं पुलिस ने मामले को जांच में लिया है।