परीक्षा नहीं होने से अधर में अटका बच्चों का भविष्य

मंदसौर/ तरुण राठौर। सीबीएससी वालों की परीक्षा नहीं होने से कई बच्चों का भविष्य अधर में अटक गया है। ऐसे में वो करें तो क्या करें, उन्हें कुछ भी समझ नहीं आ रहा है। आगे की तैयारी करें या परीक्षा होने का इंतजार। जबकि एमपी बोर्ड की परीक्षा हो चुकी है, उनका रिजल्ट भी बहुत जल्द आ जाएगा।

लॉकडॉउनशुरू होने के दौर सीबीएसी बोर्ड की परीक्षा चल रही थी। लेकिन फिर बीच में ही स्थगित कर दिया था, जिसको लेकर अब तक कोई निर्देश नहीं आए है। जबकि बोर्ड द्वारा उस समय बताया गया कि कोरोना का प्रकोप कम होते ही नियमों का पालन करते हुए बची हुई परीक्षा करा दी जाएगी। किन्तु 2 महीने बाद जब धीरे धीरे स्थिति सामान्य हो रही है, उसके बाद भी बोर्ड ने बच्चों के भविष्य को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया है। जबकि सरकार द्वारा सितम्बर से कॉलेज खोलने की प्रक्रिया चल रही है। ऐसे में यदि बोर्ड जुलाई में बची परीक्षा कराता है तो रिजल्ट कब तैयार होगा। कब बच्चे कॉलेज में एडमिशन लेंगे। जिसको लेकर संसय बना है। जबकि अमूमन 12 वीं का एक्जाम मार्च में होती है और मई में रिजल्ट आ जाता है। जिसके बाद बच्चे अपने आगे के भविष्य को लेकर प्लानिग करते है। लेकिन इस बार कोरोना के चलते बच्चों के भविष्य पर ग्रहण लग गया है। क्योंकि जून भी खत्म होने को है पर बची परीक्षा नही हुई है। ऐसे में रिजल्ट की बात करना ही बेमानी है।