जुआ पकड़ने गए पुलिस दल पर हमला, आरक्षक के साथ जमकर मारपीट, लोगों ने थाने का घेराव किया

डबरा, सलिल श्रीवास्तव। बुजुर्ग क्षेत्र में जुआ पकड़ने गई पुलिस पार्टी पर हमला हो गया जिसमें एक आरक्षक सैनिक गंभीर घायल हुआ है। मोहल्ले वालों ने ना सिर्फ उसके साथ मारपीट की बल्कि उसे मारते हुए थाने तक ले आए, जहां उसपर महिलाओं के साथ अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए एफआईआर की मांग की। देर तक लोग थाने के सामने इकट्ठे होकर हंगामा करते रहे।

इस पूरे मामले में थाना प्रभारी की भूमिका संदिग्ध दिखती है क्योंकि 4 लोगों का स्टाफ थाना प्रभारी को सूचित कर जुआ पकड़ने गया था, लेकिन मारपीट की घटना के बाद थाना प्रभारी केडी कुशवाहा इस मामले से पल्ला झाड़ रहे हैं। उनका साफ तौर पर कहना है कि मुझे इस कार्यवाही के संबंध में कोई जानकारी नहीं थी। लेकिन पीड़ित सैनिक का कहना है थाना प्रभारी को सूचित कर हम लोग कार्यवाही करने गये थे। फिलहाल पुलिस ने दोनों पक्षों का आवेदन ले लिया है और कार्यवाही का आश्वासन देकर उन्हें रवाना कर दिया है।

बता दें कि डबरा के बुजुर्ग क्षेत्र में स्थित काली माता मंदिर के पास एक घर में जुआ खेले जाने की सूचना पुलिस को मिली थी, जिसके बाद 4 लोगों का एक बल थाना प्रभारी को सूचित करते हुए कार्रवाई के लिए गया था। वहां पहुंचकर मामला पलट गया, उस घर में जुआ खेलते लोग मिले या नहीं ये अब तक पता नहीं चला है लेकिन स्थानीय लोगों ने सैनिक अंकुश भार्गव की जमकर मारपीट की और उसे मारते हुए थाने तक ले आए। मौके पर मौजूद तीन और पुलिसकर्मी मौका देख कर भाग खड़े हुए। बाद में सभी लोग थाने पहुंचे और कार्यवाही की मांग करने लगे। कार्यवाही ना होते देख वो एसडीम के बंगले भी पहुंचे और एसडीएम प्रदीप शर्मा को अपनी फरियाद सुनाई। इसके बाद एसडीएम ने उन्हें सुबह तक का समय दिया जिसके बाद सब लोग अपने घर लौटे।