शहीद भगत सिंह की प्रतिमा का अनावरण कार्यक्रम में डबरा पहुंचे डॉ नरोत्तम मिश्रा

डबरा, सलिल श्रीवास्तव। डबरा (Dabra) में आज शहीद-ए-आजम सरदार भगत सिंह की भव्य प्रतिमा का अनावरण प्रदेश सरकार के गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा (Dr. Narottam Mishra) के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व मंत्री इमरती देवी सुमन ने की। डबरा में सरदार भगत सिंह की प्रतिमा लगे इसके लिए सिख समाज काफी समय से प्रयासरत था और भाजपा के जिला ग्रामीण अध्यक्ष अमरदीप औलख के नेतृत्व में एक संकल्प लिया गया और आसपास के क्षेत्र के सभी सिख जनों के सहयोग से इस भव्य प्रतिमा को लगवा लिया।

यह भी पढ़ें…हम कितना स्थान पाए हैं उसे हम व्यवस्थित और सुरक्षित रखें इसे ही अनुशासन कहते हैं- आचार्य विद्या सागर

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कि आंसदी से बोलते हुए प्रदेश सरकार के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र ने कहा कि बाल्यकाल से जिनके ह्रदय में राष्ट्रभक्ति कूट-कूट कर भरी थी। ऐसे थे हमारे सरदार भगत सिंह उन्होंने 14 साल की उम्र में किताब और बस्ता जला दिया था। अंग्रेजों से लड़ना देश को आजाद कराना भारत माता के लिए मरना और मिटना ऐसा लगता है कि वह मां के गर्भ से ही यह सब कुछ सीख कर आए थे। मंत्री मिश्रा ने कई कविताओं के माध्यम से भी देशभक्ति का जज्बा रखने वाले शहीदों को नमन किया। उन्होंने कहा कि वह कैसे-कैसे लोग थे, वह कैसे कैसे लोग थे, जिए तो इस तरह कि वह कहानियों में ढल गए, मरे तो इस तरह की अर्थ मौत का बदल गए, उनकी मां ने उन्हें घुट्टियों में क्या पिला दिया जब हुये जवान तो जहान को हिला दिया, तुम मौत को दुल्हन बनाकर जिंदगी से चले गए, वह कैसे कैसे लोग थे वह कैसे कैसे लोग थे।

पूर्व मंत्री इमरती देवी सुमन ने शहीदे आजम भगत सिंह के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज उनकी वजह से ही हम लोग आजाद देश में निवास कर रहे हैं वहीं उन्होंने डबरा में भगवान परशुराम की प्रतिमा लगाने की मांग भी मंच से की ।प्रदेश सरकार के मंत्री नरोत्तम मिश्र की ने साफ तौर पर कहा कि अब इस चौक को भगत सिंह चौक के नाम से पहचाना जाए।